share--v1

अर्श से फर्श पर आए BYju's के रवींद्रन, Forbes की लिस्ट में नेट वर्थ हुई जीरो

बायजूस कंपनी के फाउंडर बायजूस रवींद्रन कभी दुनिया के अमीरों की लिस्ट में शामिल थे लेकिन आज न केवल वो इस लिस्ट से बाहर हो गए हैं बल्कि उनकी कुल संपत्ति जीरो हो गई है.

auth-image
India Daily Live

संकट से जूझ रही दिग्गज भारतीय एडटेक कंपनी बायजू के संस्थापक अर्श से फर्श पर आ गिरे हैं. हाल ही में जारी फोर्ब्स बिलियनेयर इंडेक्स 2024 की रिपोर्ट के मुताबिक, उनकी कुल संपत्ति 17,545 से घटकर शून्य हो गई है. सालभर पहले रवींद्रन का नाम दुनिया के अमीरों की सूची में शामिल था.

साल 2011 में स्थापित हुई इस कंपनी ने तेजी से सफलता की सीढ़ियां चढ़ी और यह जल्द ही भारत की सबसे मूल्यवान स्टार्अप कंपनी बन गई 2022 में इसका मूल्यांकन 22 बिलियन डॉलर आंका गया था. प्राइमरी स्कूल से लेकर एमबीए तक के छात्रों को पढ़ाई के लिए एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म मुहैया कराने वाली इस कंपनी ने शिक्षा के क्षेत्र में क्रांति लाने का काम किया, लेकिन हाल ही में सामने आईं कंपनी की आर्थिक स्थिति पर रिपोर्ट ने कंपनी की छवि को धूल में मिला दिया और यह बुरी तरह विवादों में घिर गयी.

पिछले साल जारी हुई फोर्ब्स बिलियनेयर की सूची से इस साल केवल चार नाम बाहर हुए हैं जिनमें एक नाम बायजू रवींद्रन का भी शामिल है. ब्लैकरॉक ने आर्थिक संकट से घिरी बायजू कंपनी का वैल्यूएशन घटाकर 1 बिलियन डॉलर कर दिया जबकि 2022 में कंपनी का वैल्यूएशन 22 बिलियन डॉलर था.

कंपनी के सामने आ रही आर्थिक मुसीबतों का खुलासा उस वक्त हुआ जब कंपनी ने बताया कि मार्च 2022 में खत्म होने वाले वित्त वर्ष के लिए कंपनी के ऊपर लंबे समय से पेंडिंग हैं. कंपनी ने बताया कि उसे इस वित्त वर्ष में 1 बिलियन डॉलर से ज्यादा का नेट लॉस हुआ है. नेट लॉस की खबर के बाद कंपनी के बड़े निवेशक ब्लैकरॉक ने कंपनी का वैल्युएशन घटाकर 1 बिलियन डॉलर कर दिया.

गिरती परफॉर्मेंस के कारण बायजू रवींद्रन को कड़ी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा है. पिछले महीने कंपनी के शेयरधारकों ने बायजू रवींद्रन को कंपनी के सीईओ पद से हटाने के लिए वोटिंग की थी.

Also Read