menu-icon
India Daily
share--v1

Cricket: कभी टीम में किया था धमाकेदार डेब्यू, मगर आज गुमनामी की जिंदगी बसर कर रहे हैं ये 5 भारतीय क्रिकेटर

आज हम आपको कुछ ऐसे क्रिकेटरों के नाम बताएंगे जिन्होंने इंडियन टीम में धमाकेदार डेब्यू किया लेकिन वे अपनी जगह पक्की नहीं कर पाए और गुमनामी के अंधेरे में चले गए....

auth-image
India Daily Live
Cricket

Cricket News: ध्रुव पटेल, आकाश दीप, मुकेश कुमार और सरफराज खान ने हाल ही में शानदार डेब्यू किया है. टीम इंडिया में चयन के बाद इन खिलाड़ियों की खुशी का ठिकाना नहीं है. हालांकि ये खिलाड़ी भली-भांति जानते होंगे कि जितना मुश्किल भारतीय टीम में जगह पाना है उससे कहीं ज्यादा मुश्किल भारतीय टीम में लंबे समय तक बने रहना है.

आज हम आपको कुछ ऐसे क्रिकेटरों के नाम बताएंगे जिन्होंने इंडियन टीम में धमाकेदार डेब्यू किया लेकिन वे अपनी जगह पक्की नहीं कर पाए और गुमनामी के अंधेरे में चले गए....

टी नटराजन

 

T Natarajan
टी नटराजन


लंबे संघर्ष के बाद टी नटराजन इंटरनेशनल क्रिकेट तक पहुंचे थे. उनकी मां सड़क पर मछली बेचती थीं. आईपीएल में धांसू प्रदर्शन के बाद टी नटराजन को 2021 के ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए टेस्ट टीम में चुना गया था. सीरीज के पहले टेस्ट मैच में उन्होंने शानदार प्रदर्शन करते हुए 3 विकेट झटके थे लेकिन यह टेस्ट उनका पहला और आखिरी टेस्ट साबित हुआ. इसके अलावा उन्होंने 2 वनडे मैचों में 3 औ 4 टी-20 मैचों में 7 विकेट झटके लेकिन आज यह सितारा टीम से बाहर है.

अजय रात्रा

अजय रात्रा
अजय रात्रा

2002 में अजय रात्रा ने एंटिगा में नाबाद 115 रनों की पारी खेली थी. इसी के साथ वह टेस्ट में शतक बनाने वाले सबसे कम उम्र के विकेटकीपर और विदेश में शतक जमाने वाले दूसरे भारतीय विकेटकीपर बने. उस समय रात्रा केवल 20 साल के थे और यह उनका तीसरा टेस्ट था लेकिन समय के साथ रात्रा अपनी परफॉर्मेंस बरकरार नहीं रख पाए और फिर पार्थिव पटेल ने टीम में उनकी जगह ले ली. इसके बाद टीम में राहुल द्रविड़ और धोनी जैसे विकेटकीपरों की एंट्री से यह क्रिकेटर दोबारा टीम में अपनी जगह नहीं बनाया पाया.

शिव सुंदर दास

 

शिव सुंदर दास
शिव सुंदर दास


शिव सुंदर दास भारतीय क्रिकेट कोच और पूर्व क्रिकेटर और सीनियर मेन नेशनल क्रिकेट टीम के सेलेक्टर हैं. वह ओडिशा के तीसरे खिलाड़ी थे जिन्हें भारत के लिए खेलने का मौका मिला. फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उनका प्रदर्शन शानदार था. उनके नाम 10908 रन हैं. उन्होंने भारत के लिए 23 टेस्ट 1326 रन और 4 वनडे में 39 रन बनाए.

फैज फजल

 

फैज फैजल
फैज फजल


फैज फजल फर्स्ट क्लास क्रिकेट के सबसे होनहार खिलाड़ियों में से एक थे.  अपने डेब्यू मैच में ही उन्होंने 55 रन की पारी खेली थी लेकिन 2016 में जिम्बाब्वे के खिलाफ हरारे में खेला गया यह मैच उनके अंतरराष्ट्रीय करियर का पहला और आखिरी मैच साबित हुआ. 

विनोद कांबली

 

विनोद कांबली
विनोद कांबली


विनोद कांबली को भला कौन नहीं जानता. सचिन के दोस्त कांबली ने धमाकेदार अंदाज में इंटरनेशनल क्रिकेट में पदार्पण किया था. उन्होंने 17 टेस्ट में 4 शतक और 3 अर्धशतक के साथ 1084 रन बनाए जबकि 104 वनडे में 2 शतक 14 अर्धशतक के साथ 2477 रन बनाए. एक बार टीम से बाहर होने के बाद वह फिर कभी टीम में नहीं लौटे.