menu-icon
India Daily
share--v1

'आरक्षण विरोधी मानसिकता का भांडा फूट गया', पांच प्वाइंट्स में समझें ममता दीदी पर क्या-क्या बोले PM मोदी 

Lok Sabha Election 2024: पीएम मोदी ने हरियाणा की चुनावी सभाओं में विपक्ष पर जमकर निशाना साधा. ओबीसी आरक्षण पर उन्होंने पश्चिम बंगाल की ममता सरकार को भी घेरा.

auth-image
India Daily Live
PM Modi
Courtesy: Social Media

Lok Sabha Election 2024: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हरियाणा के महेंद्रगढ़ में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल हाई कोर्ट के फैसले ने इंडिया गठबंधन के आरक्षण के खिलाफ षडयंत्र का पर्दाफाश कर दिया है. कोर्ट ने इनकी आरक्षण विरोधी मानसिकता का भांडा फोड़ दिया है. पीएम ने कहा कि जो आरक्षण ओबीसी को मिलना चाहिए वह मुसलमानों और घुसपैठियों को दिया जा रहा था. उन्होंने कहा कि यदि कोर्ट न होता तो क्या होता? इंडिया गठबंधन के सारे नेता वोट बैंक के साथ डटकर खड़े हो गए हैं. आपके साथ कौन खड़ा होगा? हरियाणा के साथ कौन खड़ा होगा? 

  • लोग बंगाल की मौजूदा सरकार से पूरी तरह हताश हैं. अब उनके सामने बीजेपी का विकास मॉडल है.  बंगाल में जहां भी गया, वहां लोगों में बीजेपी के प्रति अभूतपूर्व विश्वास नजर आया. विशेष रूप से मुझे वहां की माताओं-बहनों का बहुत स्नेह मिल रहा है. इस बार हम बंगाल में पहले से ज्यादी सीटों पर जीत हासिल करेंगे. 

 

  • इंडिया गठबंधन की पार्टियां दिल्ली में हारी हुई लड़ाई लड़ रही हैं. उनके सामने अपना अस्तित्व बचाने का संकट है. चुनाव के बाद वैसे भी इंडिया गठबंधन नाम की कोई चीज बचेगी नहीं. दिल्ली की जनता ने बहुत पहले ही कांग्रेस को बाहर कर दिया था. 

 

  • ईडी और एजेसिंयो पर आरोप लगाने वाला विपक्ष आज तक एक मामले में ये साबित नहीं कर पाया है कि उनके खिलाफ गलत आरोप लगा है. अगर एजेंसियों ने उन्हें यानी केजरीवाल को पकड़ा था तो फिर उन्हें कोर्ट से राहत क्यों मिली? 

 

  • पीएम मोदी ने ने कहा कि देश की जनता इंडी जमात के इरादे पहले ही भांप चुकी है.  इसलिए इनका ये हाल हुआ है.  पांच चरणों में ही इंडी जमात का ढोल फट गया है.  तीसरे चरण के बाद इन्होंने रोना-धोना शुरू कर दिया. 

कलकत्ता हाई कोर्ट का फैसला 

पश्चिम बंगाल में साल 2010 के बाद जारी किए गए ओबीसी सर्टिफिकेट को हाई कोर्ट ने रद्द कर दिया. कोर्ट के इस फैसले पर टीएमसी की मुखिया ममता बर्नजी ने नाराजगी जताई है. उन्होंने कहा कि उनकी सरकार इसे स्वीकार नहीं करेगी और कलकत्ता हाई कोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देगी. कलकत्ता हाई कोर्ट के इसी फैसले पर पीएम मोदी ने निशाना साधा है.