menu-icon
India Daily
share--v1

क्या है 14 विपक्षी दलों की उलगुलान रैली, इंडिया ब्लॉक ने ढूंढ लिया है नया मुद्दा? समझें समीकरण

झारखंड के मुख्यमंत्री चंपई सोरेन ने कहा कि इस रैली में केंद्र की तानाशाही नीतिओं का पर्दाफाश किया जाएगा. उन्होंने कहा कि आज हमारा संविधान और लोकतंत्र खतरे में हैं जिसे बचाने की जरूरत है.

auth-image
India Daily Live
 India Block Rally IN RANCHI

लोकसभा चुनावों के बीच रांची के प्रभात तारा मैदान पर आज रविवार (21 अप्रैल) को  INDIA  ब्लॉक की मैगा रैली होने जा रही है. इससे पहले 31 मार्च को केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ आक्रोश जाहिर करते हुए इंडिया ब्लॉक ने दिल्ली के रामलीला मैदान में एक विशाल रैली का आयोजन किया था.

उलगुलान न्याय रैली में क्या होगा मुद्दा

विपक्ष ने इस रैली को उलगुलान (विद्रोह) न्याय रैली का नाम दिया है. रैली में कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, राहुल गांधी, झारखंड के मुख्यमंत्री और जेएमएम नेता चंपई सोरेन, पंजाब के मुख्यमंत्री और आप नेता भगवंत मान, आप राज्य सभा सांसद संजय सिंह समते इंडिया ब्लॉक में शामिल पार्टियों के कई बड़े नेता हिस्सा लेने जा रहे हैं.

केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल भरेंगी हुंकार

इस रैली में विपक्षी पार्टियों के नेताओं जैसे झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी के मुद्दे को जोर-शोर से उठाया जाएगा. दोनों ही नेता इस वक्त न्यायिक हिरासत में हैं. दोनों ही नेताओं की पत्नी सुनीता केजरीवाल और कल्पना सोरेन भी इस रैली को संबोधित करेंगी.

हमें लोकतंत्र और संविधान बनाने की जरूरत- चंपई सोरेन

चंपई सोरेन ने शनिवार को केंद्र पर हमला बोलते हुए कहा था कि भाजपा नीत केंद्र सरकार की तानाशाही रणनीति का पर्दाफाश किया जाएगा. उन्होंने कहा था कि यह रैली एक ऐतिहासिक रैली होगी जिसका उद्देश्य केंद्र के तानाशाही रवैये को उजागर करना है.

उन्होंने जोर देते हुए कहा, 'हमें तानाशाही को खत्म कर अपने लोकतंत्र और संविधान को बचाने की जरूरत है. हर कोई जानता है कि दिल्ली और झारखंड में क्या हुआ. हम इस रैली में केंद्र के तानाशाही रवैये का पर्दाफाश करेंगे.'