share--v1

मॉस्को से Pakistan भेज रहा था जानकारी, मेरठ से धरा गया ISI एजेंट

इनपुट मिलने के बाद यूपी एटीएस की टीम ने पूछताछ के लिए आरोपी को हिरासत में लिया था. जहां अधिकारियों के सवालों का जवाब देते समय ही उसकी पोल खुल गई.

auth-image
Naresh Chaudhary
फॉलो करें:

लखनऊः उत्तर प्रदेश आतंकवाद निरोधक दस्ते (UP ATS) ने एक पाकिस्तानी इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) एजेंट को गिरफ्तार किया है. आरोपी मॉस्को में भारतीय दूतावास में तैनात था. आरोप है कि वह भारत और भारतीय सेना की खुफिया जानकारियां पाकिस्तान को भेज रहा था. इनपुट के आधार पर यूपी एटीएस ने कार्रवाई की है. 

आरोपी की पहचान सत्येन्द्र सिवाल के रूप में हुई है. वह साल 2021 से मॉस्को में भारतीय दूतावास में तैनात था. वह दूतावास में भारत आधारित सुरक्षा सहायक (आईबीएसए) के रूप में काम कर रहा था. एक आधिकारिक बयान में बताया गया है कि आतंकवाद निरोधी दस्ते को अपने सूत्रों से मॉस्को में भारतीय दूतावास में सक्रिय एक जासूस के बारे में सूचना मिली थी.

एटीएस की पूछताछ में नहीं दे पाया सही जवाब, कबूल की जसूसी की बात

सूचना पर कार्रवाई करते हुए यूपी एटीएस ने सिवाल को हिरासत में लिया और पूछताछ की. पूछताछ में सत्येंद्र ने संतोषजनक जवाब नहीं दिए. दावा किया गया है कि बाद में उसने जासूसी करने की बात कबूल कर ली है. इसके  बाद उसे यूपी के मेरठ जिले से गिरफ्तार किया गया है. 

Indian Army की सीक्रेट्स लेने के लिए अधिकारियों को देते था लालच

पूछताछ के दौरान सत्येन्द्र सिवाल ने खुलासा किया है कि वह भारतीय सेना और उसके दिन-प्रतिदिन के कामकाज के बारे में जानकारी निकालने के लिए भारत सरकार के अधिकारियों को पैसों का लालच देता था. सत्येंद्र सीवान पर भारतीय दूतावास, रक्षा मंत्रालय और विदेश मामलों की महत्वपूर्ण व गोपनीय जानकारी आईएसआई हैंडलर्स को देने का भी आरोप लगाया गया है.

Also Read

First Published : 04 February 2024, 12:37 PM IST