share--v1

दूसरे देशों की सैटेलाइट लॉन्च करके इसरो ने खूब की है कमाई, पैसा गिनते-गिनते थक जाएंगे आप

ISRO Earning By Launching Foreign Satellites: भारत की स्पेस एजेंसी इसरो विदेशी सैटेलाइट्स को लॉन्च करके मोटी कमाई करता है.

auth-image
India Daily Live

ISRO Earning By Launching Foreign Satellites: भारत की स्पेस एजेंसी इसरो आज दुनिया की टॉप स्पेस एजेंसियों में से एक है. एक समय था कि भारत के पास खुद का रॉकेट नहीं था. लेकिन आज भारत दूसरे देशों की सैटेलाइट्स को अपने रॉकेट से अंतरिक्ष में भेजता है. इसरो इसके जरिए खूब कमाई भी करता है. एक रिपोर्ट्स के मुताबिक 2023 तक भारत ने कुल 432 विदेशी सैटेलाइट्स लॉन्च की हैं. दूसेर देशों की सैटेलाइट्स लॉन्च करके इसरो ने खूब कमाई की है.

बात अगर पिछले दस सालों की करें तो दिसंबर 2023 तक (पिछले दस सालों में) 397 विदेशी सैटेलाइट्स लॉन्च की है.

किस रॉकेट का ज्यादा इस्तेमाल हुआ

इसरो ने जितनी विदेशी सैटेलाइट्स लॉन्च की है उनमें से 91 फीसदी पिछले दस सालों में लॉन्च की है. कॉर्मशियल मिशन के लिए इसरो ने पीएसएलवी रॉकेट को सबसे अधिक इस्तेमाल करता है. PSLV (Polar Satellite Launch Vehicle) के जरिए 107 सैटेलाइट्स लॉन्च की जा चुकी हैं. वहीं, LVM3 रॉकेट की बात करें तो इसके जरिए अब तक 72 सैटेलाइट्स लॉन्च कर सकती है.

सैटेलाइट्स लॉन्च करके इसरो ने की इतनी कमाई

इसरो ने अब तक विदेशी वेबसाइट्स लॉन्च करके लगभग 36,753 करोड़ रुपये की कमाई की है. इसकी जानकारी सरकार ने बीते साल राज्यसभा में एक सवाल के जवाब में दी थी.

ISRO इन देशों के लिए लॉन्च कर चुका है सैटेलाइट्स 

भारत ने ऑस्ट्रेलिया, ऑस्ट्रिया, बेल्जियम, कनाडा, चेक गणराज्य, फिनलैंड, फ्रांस, जर्मनी, इज़राइल, इटली, जापान, लातविया, लिथुआनिया, लक्ज़मबर्ग, कोरिया गणराज्य, सिंगापुर, स्लोवाकिया, स्पेन, स्विट्जरलैंड, नीदरलैंड यूएई, यूनाइटेड किंगडम और यूएसए जैसे देशों के लिए सैटेलाइट्स लॉन्च किए हैं. ये भारत के लिए किसी बड़ी उपलब्धि से कम नहीं है.

नोट- इस खबर में 15 दिसंबर 2023 तक के आंकड़ों को शामिल किया गया है. 

Also Read