share--v1

1 अप्रैल से ग्राहकों को रुलाएगा SBI, खाली हो जाएगा आपका बटुआ!

Maintenance Charges: 1 अप्रैल से नया वित्त वर्ष शुरू हो जाएगा. नए वित्त वर्ष से कई सारी चीजें बदल जाएंगी. भारतीय स्टेट बैंक ने डेबिट कार्ड के एनुअल मेंटेनेंस चार्ज बढ़ा दिए हैं जो 1 अप्रैल से लागू होंगे. 

auth-image
India Daily Live

SBI Debit Card Annual Maintenance Charges: भारतीय स्टेट बैंक ने अपने एनुअल मेंटेनेंस चार्ज में बड़ा बदलाव किया है. दरअसल, बैंक ने कुछ डेबिट कार्ड के चार्जेंस को रिवाइज किया है. नए वित्त वर्ष से ये चार्जेंस अप्लाई हो जाएंगे. क्लासिक, सिल्वर, ग्लोबल और कांटेक्टलेस डेबिट कार्ड के साथ युवा, गोल्ड एंड कॉम्बो डेबिट कार्ड की एनुअल चार्ज 1 अप्रैल से रिवाइज्ड होंगे. इसी के साथ प्लैटिनम डेबिट कार्ड की मेंटेनेंस फीस में भी बढ़ोतरी होगी. 

भारतीय रिजर्व बैंक नए वित्त वर्ष ने सिर्फ एनुअल मेंटेनेंस चार्ज बढ़ा रहा है बल्कि नए डेबिट कार्ड पर की फीस बढ़ा दी है. यानी अगर आपके पास डेबिट कार्ड नहीं या आप फिर से डेबिट कार्ड लेना चाह रहे हैं तो अब आपको इसके लिए और भी पैसे देने होंगे. 

कितना महंगा हुआ डेबिट कार्ड?

क्लासिक, सिल्वर, ग्लोबल और कॉन्टैक्टलेस डेबिट कार्ड की एनुअल मेंटेनेंस फीस 125 रुपये से बढ़कर 200 रुपये तक हो गई है. इसके अलावा आपको जीएसीट भी देना पड़ेगा. 

युवा, गोल्ड, कॉम्बो डेबिट कार्ड, माय गार्ड के मेंटेनेंस चार्ज 175 रुपये से बढ़कर 200 रुपये तक हो गए हैं. इसके साथ आपको जीएसटी भी पे करना होगा. 

एसबीआई प्लैटिनम डेबिट कार्ड की एनुअल मेंटेनेंस चार्ज 250 रुपये से बढ़कर 325 रुपये होगी. इसके अलावा इस पर जीएसटी भी अलग से देना पड़ेगा. 

प्राइड प्रीमियम बिजनेस डेबिट कार्ड की एनुअल मेंटेनेंस चार्ज 350 रुपये से बढ़कर 425 रुपये हो गई है. इसके साथ ही जीएसटी अलग से देना होगा. 

भारतीय स्टेट बैंक ने कहा है कि रेंट पेमेंट करने पर मिलने वाले रिवार्ड प्वाइंट्स 15 अप्रैल से नहीं मिलेगा. 1 अप्रैल से इसमें भी बदलाव किया जाएगा.     

डेबिट कार्ड के अलावा अन्य चीजों में भी 1 अप्रैल से बदलाव होने हैं. नए वित्त वर्ष में कई सारी चीजें बदल जाती  हैं.

Also Read