share--v1

केजरीवाल के iPhone का डाटा एक्सेस करने में ED की मदद नहीं कर सकता एप्पल

ईडी ने दावा किया है कि उसके पास इस बात के सबूत हैं कि केजरीवाल ने साउथ ग्रुप से 100 करोड़ की रिश्वत मांगी थी.

auth-image
India Daily Live

Delhi News: प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने कथित  दिल्ली आबकारी नीति घोटाला मामले में गिरफ्तार किए गए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आईफोन का एक्सेस प्राप्त करने में मदद करने के लिए एप्पल से संपर्क किया था, हालांकि, खबर है कि कंपनी ने यह कहते हुए मदद करने से इनकार कर दिया कि मोबाइल के डेटा को मोबाइल के ओनर (मालिक) द्वारा लगाए गए पासवर्ड से ही प्राप्त किया जा सकता है.

'एप्पल ने कहा हमें पासवर्ड की जरूरत होगी'

इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, ईडी ने एप्पल और भारत में आईफोन  निर्माता कंपनियों से अरविंद केजरीवाल के आईफोन का डेटा निकालने में उनकी मदद करने को कहा था लेकिन कंपनियों ने कहा कि डाटा निकालने के लिए उन्हें उस फोन के पासवर्ड की जरूरत होगी.

केजरीवाल के फोन का डेटा खंगालना चाहती है ईडी

बता दें कि ईडी को केजरीवाल के खिलाफ अब तक कोई भी इलेक्ट्रॉनिक सबूत नहीं मिला है, ऐसे में उसका पूरा ध्यान केवल जब्त किए गए चार मोबाइल फोनों पर है जिसमें केजरीवाल का फोन भी शामिल है.

केजरीवाल ने ई़डी को अपने फोन का एक्सेस देने से किया इनकार

वहीं केजरीवाल ने यह चिंता जताते हुए ईडी को अपने फोन का पासवर्ड देने से इनकार कर दिया है कि वह उनके फोन से आम आदमी पार्टी की चुनावों को लेकर तैयार की गई रणनीति को एक्सेस कर सकती है. इसके अलावा दिल्ली सीएम ने ईडी से कहा कि आईफोन पिछले केवल एक साल से उनके पास है. 2020-21 में बनाई गई शराब नीति के दौरान यह फोन उनके पास नहीं था.

कोर्ट ने बढ़ाई केजरीवाल की न्यायिक हिरासत

 बता दें कि कोर्ट ने अरविंद केजरीवाल की न्यायिक हिरासत को 7 और दिन के लिए बढ़ा दिया है. ईडी ने यह कहते हुए केजरीवाल की न्यायिक हिरासत बढ़ाने की मांग की थी कि वो जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं और फोन का पासवर्ड नहीं दे रहे हैं. इसके अलावा ईडी ने दावा किया है कि उसके पास इस बात के सबूत हैं कि केजरीवाल ने साउथ ग्रुप से 100 करोड़ की रिश्वत मांगी थी.

Also Read