share--v1

'मिस्टर प्रेसिडेंट ट्रंप नहीं...', अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन ने खोला बड़ा राज 

USA President Election: अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने डोनाल्ट ट्रंप को लेकर फंड रेजिंग कार्यक्रम में चौंकाने वाले खुलासे किए. उन्होंने कहा कि अमेरिकी लोकतंत्र के लिए मैं बेहद चिंतित हूं.

auth-image
Shubhank Agnihotri

USA President Election: अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने राष्ट्रपति चुनाव में उनके प्रतिद्वंद्वी डोनाल्ड ट्रंप को लेकर बड़ा खुलासा किया है. उन्होंने कहा कि उनसे दुनिया के कई नेताओं ने ट्रंप के दोबारा अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में संभावित जीत पर चिंता व्यक्त की है. बाइडन ने इसके लिए भारत में पहली बार आयोजित जी 20 सम्मेलन का भी हवाला दिया जिसमें कई देशों के नेताओं ने ट्रंप को लेकर चिंता जाहिर की थी.

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और बिल क्लिंटन बाइडन के लिए न्यूयॉर्क में आयोजित एक फंड रेजिंग कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे थे. इस दौरान दोनों नेताओं ने डोनाल्ड ट्रंप को हराने पर जोर दिया. बाइडन ने कहा कि ट्रंप की इस घोषणा से मैं बेहद परेशान हूं जिसमें उन्होंने राष्ट्रपति चुनाव हारने पर खून-खराबे की बात कही थी. बाइडन ने कहा कि ट्रंप का यह रवैया सच में परेशान करने वाला है, मैं इससे बेहद चिंतित हूं. आखिर लोकतंत्र में इस प्रकार के कृत्यों की जरूरत कैसी? यह मेरे लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है और मैं इस पर बारीकी से ध्यान दे रहा हूं. 

बाइडन ने कहा कि दुनिया के तमाम नेताओं ने मुझसे कहा है कि मिस्टर प्रेसिडेंट आप ट्रंप को जीतने नहीं दे सकते. मैं सच कह रहा हूं और बताना चाहता हूं कि यह कोई बढ़ा-चढ़ाकर पेश करने वाली बात नही है. मैं उन नेताओं का नाम प्रेस के सामने सार्वजनिक तौर पर नहीं ले सकता लेकिन उन्होंने जो मुझसे कहा वो मैं आप से कह रहा हूं. यह मेरे देश के लिए, दुनिया के सबसे पुराने लोकतंत्र के लिए यह अहमियत रखता है. ट्रंप की जीत अमेरिकी लोकतंत्र की साख को भी चुनौती है और यह मेरे लिए बेहद अहमियत रखता है. बाइडन ने इसके लिए भारत में आयोजित जी 20 शिखर सम्मेलन का भी हवाला दिया. 

डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बाइडन की रिपब्लिकन पार्टी के  दावेदार ट्रंप से चुनावी लड़ाई फिर से तय मानी जा रही है. बाइडन ने अपने संबोधन में कहा कि मैं ट्रंप के रवैये को लेकर चिंतित हूं कैसे उन्होंने नाटो से दूरी बना ली और पुतिन को कुछ भी करने की खुली आजादी दे दी. ऐसा व्यक्ति दोबारा सत्ता में आया तो अमेरिका का राजनीतिक भविष्य और उसकी नीतियों का क्या होगा यह एक बेहद जरूरी मसला है जिस पर हम सभी को ध्यान देने की जरूरत है. 

 

Also Read