menu-icon
India Daily
share--v1

रायबरेली नहीं वायनाड छोड़ेंगे राहुल गांधी, प्रियंका गांधी को लेकर भी खड़गे ने किया बड़ा ऐलान, समझिए इसके सियासी मायने

Rahul Gandhi: कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने ऐलान किया कि राहुल गांधी रायबरेली से सांसद बनें रहेंगे. वह वायनाड सीट छोड़ रहे हैं. वायनाड सीट से कांग्रेस की ओर से प्रियंका गांधी चुनाव लड़ेंगी. इसका भी एलान हो चुका है. खड़गे ने मीडिया को संबोधित करते हुए राहुल के वायनाड सीट छोड़ने और प्रियंका के वायनाड से लड़ने की बात कही.

auth-image
India Daily Live
RAhul Gandhi and Priyanka GAndhi
Courtesy: Social Media

Rahul Gandhi: कांग्रेस नेता राहुल गांधी रायबरेली सीट से सांसद बने रहेंगे. उनके वायनाड सीट छोड़ने की घोषणा हो चुकी है. कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि राहुल गांधी रायबरेली से सांसद बने रहेंगे. उनके वायनाड सीट छोड़ने के बाद उप चुनाव में कांग्रेस की ओर से प्रियंका गांधी चुनावी मैदान में ताल ठोंकेगी. उनके नाम की भी घोषणा हो चुकी है. सोमवार को कांग्रेस के शीर्ष नेताओं ने पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के आवास पर बैठक हुई थी. बैठक के बाद ही मल्लिकार्जुन खड़गे ने राहुल गांधी के वायनाड सीट छोड़ने और रायबरेली से सांसद बने रहने की घोषणा की. लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के 14 दिनों के अंदर राहुल गांधी को एक सीट छोड़नी थी.

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा - "राहुल गांधी ने 2 सीटों पर लोकसभा चुनाव जीता है. ऐसे में उन्हें एक सीट छोड़नी पड़ेगी. पार्टी ने तय किया है कि राहुल गांधी को रायबरेली की सीट से सांसद बने रहना चाहिए. वायनाड से खाली सीट पर प्रियंका गांधी वाड्रा चुनाव लड़ेंगी."

प्रियंका बोलीं- वायनाड का प्रतिनिधित्व करना गर्व की बात होगी

वायनाड सीट से चुनाव लड़ने को लेकर प्रियंका गांधी ने कहा कि वह इस फैसले से बहुत खुश हैं. उनके लिए वायनाड का प्रतिनिधित्व करना गर्व की बात होगी. उन्होंने कहा कि वह एक अच्छा प्रतिनिधि बनने की कोशिश करेंगी. 

रायबरेली को लेकर प्रियंका गांधी ने कहा, "रायबरेली से मेरा पुराना रिश्ता है और मैंने रायबरेली और अमेठी के लिए काफी काम" किया है. मैं भैया की मदद रायबरेली में भी करुंगी. हम दोनों (राहुल गांधी और प्रियंका गांधी) वायनाड और रायबरेली में एक-दूसरे की मदद करेंगे."

वायनाड सीट छोड़ने पर क्या बोले राहुल गांधी

राहुल गांधी ने वायनाड सीट छोड़ने और प्रियंका के वायनाड से चुनाव लड़ने पर कहा, "प्रियंका गांधी चुनाव लड़ने जा रही हैं.  मुझे पूरा भरोसा है कि वह चुनाव जीतेंगी. वायनाड के लोग सोच सकते हैं कि उनके पास संसद के दो सदस्य हैं, एक मेरी बहन है और दूसरा मैं. वायनाड के लोगों के लिए मेरे दरवाजे हमेशा खुले  रहेंगे.मैं वायनाड के हर एक व्यक्ति से प्यार करता हूं."

राहुल गांधी के रायबरेली न छोड़ने के सियासी मायने

राहुल गांधी के रायबरेली से सांसद बने रहने के कई सियासी मायने हैं. केंद्र की सत्ता में कांग्रेस की वापसी के लिए यूपी बहुत ही जरूरी है. इसलिए राहुल गांधी ने वायनाड सीट छोड़ने का फैसला किया है. उत्तर प्रदेश में 2027 में विधानसभा चुनाव होने हैं. उस लिहाज से भी राहुल गांधी के लिए रायबरेली का सांसद बने रहना बहुत जरूरी है. 

इस बार लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में अच्छा प्रदर्शन किया था. उसने सपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ा था. सपा ने 37 तो कांग्रेस ने 6 सीटों पर जीत दर्ज की थी. पिछले लोकसभा चुनाव की अपेक्षा कांग्रेस ने इस बार बेहतरीन प्रदर्शन किया है. उत्तर प्रदेश में उसे अपने आपको और मजबूत बनाने के लिए राहुल गांधी को यहां बने रहना बहुत जरूरी है. 

राहुल गांधी कांग्रेस पार्टी का प्रमुख चेहरा है. ऐसे में अगर वो रायबरेली छोड़ते तो कांग्रेस के लिए यह खतरे की घंटी साबित हो सकता था. बीजेपी को यूपी में मात देने के लिए उनका यूपी में बने रहना बहुत जरूरी है.