menu-icon
India Daily
share--v1

Main Kisi Aur Ka Hoon Filhal! आगे चाचा-पीछे भतीजा, तस्वीर से क्या संदेश दे रहे नीतीश और तेजस्वी?

दिल्ली में देश भर के बड़े-बड़े नेताओं का जमावड़ा लगना शुरू हो गया है.  नीतीश कुमार दिल्ली के रवाना हो गए हैं. जिस फ्लाइट से नीतीश दिल्ली रवाना हुए हैं उसी फ्लाइट में तेजस्वी यादव भी दिल्ली के लिए रवाना हुए हैं.

auth-image
India Daily Live
Nitish Kumar
Courtesy: Social Media

लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद अब सरकार बनाने की कवायद शुरू हो गई है. दिल्ली में देश भर के बड़े-बड़े नेताओं का जमावड़ा लगना शुरू हो गया है.  नीतीश कुमार दिल्ली के रवाना हो गए हैं. जिस फ्लाइट से नीतीश दिल्ली रवाना हुए हैं उसी फ्लाइट में तेजस्वी यादव भी दिल्ली के लिए रवाना हुए हैं. दिल्ली में एनडीए की बैठक होनी है. नीतीश कुमार के ठीक पीछे वाली सीट पर तेजस्वी यादव बैठे हैं. 

बिहार के दोनों नेता के एक ही फ्लाइट से दिल्ली रवाना होने से सियासी हलचल तेज हो गई है. नई सरकार की गठन में नीतीश कुमार का रोल अहम रहने वाला है. नीतीश किस ओर करवट लेगें इसे लेकर अभी कुछ साफ नहीं है. आज दिल्ली में एनडीए की बैठक में शामिल होने के लिए एनडीए से जुड़े तमाम दल के नेताओं को आज दिल्ली बुलाया गया है. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अलावा चिराग पासवान, जीतन राम मांझी को भी दिल्ली बुलाया गया है.

बीजेपी बहुमत से दूर

एनडीए गठबंधन एक बार फिर से सरकार बनाने का दावा कर रही है. बीजेपी को अकेले दम पर बहुमत नहीं मिला है. ऐसे में सहयोगी दलों की भूमिका अहम हो गई है. भारत के चुनाव आयोग द्वारा बुधवार को घोषित अंतिम परिणामों के अनुसार, भाजपा ने 240 सीटें जीतीं, जो बहुमत के लिए आवश्यक 272 के आंकड़े से कम है, जबकि कांग्रेस को 99 सीटें मिली हैं. 2024 के परिणाम 2019 और 2014 में भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए द्वारा जीती गई 303 और 282 सीटों से बहुत दूर हैं, जिससे उन्हें अपने दम पर बहुमत मिला था.

किंगमेकर बनकर उभरे नीतीश कुमार

बिहार में एनडीए ने 30 सीटों पर जीत दर्ज की है. वहीं बात की जाए इंडिया गठबंधन की तो नौ सीटों पर जीत हुई है. वहीं पूर्णिया से पप्पू यादव ने निर्दलीय जीत हासिल की है. दिल्ली में उधर इंडिया गठबंधन की भी बैठक होनी है. माना जा रहा है कि इसमें तेजस्वी यादव भी शामिल होंगे. दिल्ली रवाना होने पहले तेजस्वी यादव ने पटना में संवाददाताओं से कहा कि हमारा प्रदर्शन बहुत अच्छा रहा है. हमने मुद्दों के आधार पर चुनाव लड़ा. भगवान राम ने अयोध्या में भारत को आशीर्वाद दिया. इसलिए, यह बहुत स्पष्ट है कि 'मोदी फैक्टर' खत्म हो गया है. भाजपा बहुमत से बहुत दूर है. अब यह सहयोगियों पर निर्भर है. हमें खुशी है कि हम संविधान की रक्षा करने में काफी हद तक सफल रहे हैं.