menu-icon
India Daily
share--v1

अवध ओझा, खान और दिव्यकीर्ति के चेले IAS बने की नहीं? UPSC का रिज़ल्ट आते ही Social Media में हल्लाबोल

मंगलवार को सिविल सर्विसेज एग्जामिनेशन 2023 का रिजल्ट जारी कर दिया गया. इस बार आयोग की परीक्षा में 1016 उम्मीदवार पास हुए. अब सोशल मीडिया पर ये सवाल उठ रहे हैं कि पास हुए छात्रों में कितने अवध ओझा, दिव्याकीर्ति और खान सर से पढ़े उम्मीदवार हैं.

auth-image
India Daily Live
Vikas Divyakirti

यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन ने यूपीएससी सिविल सर्विसेज 2023 का रिजल्ट जारी कर दिया है. रिजल्ट आते हैं टॉपर्स की लिस्ट भी आ गई. इस साल परीक्षा में यूपी के आदित्य श्रीवास्तव ने टॉपर बने हैं. इस बार आयोग की परीक्षा में 1016 उम्मीदवार पास हुए हैं, इसमें कितने मॉडर्न गुरू अवध ओझा खान सर और दिव्याकीर्ति सर के हैं इसकी जानकारी हमें नहीं है. सोशल मीडिया पर रिजल्ट जारी होने के बाद से ही ये सवाल तैर रहा है कि इस दो गुरु जी के कितने छात्र इस बार परीक्षा पास कर पाए?

वरिष्ठ पत्रकार दिलीप मंडल ने अवध ओझा पर हमला बोलते हुए एक्स पर लिखा कि ओझा का कोई स्टूडेंट आज तक आईएएस-आईपीएस बना है या नहीं? या ये सिर्फ जोकरई के वीडियो ही बनाता है?  मैं तो सिविल सर्विस वालों के क्लब में कई बार गया. कई परिचित भी हैं. कभी किसी ने नहीं बताया कि वो आईएएस ओझा का स्टूडेंट है. या ओझा का कोई स्टूडेंट आईएएस बना है. आपको मिले तो नाम बताना. 

दिलीप मंडल ने आगे लिखा खान तो क्लर्क वगैरह की तैयारी कराता है. उसके चेले हैं कई जगह नौकरियों में. ओझा इनफ्लूएंशर ठीक है. पर मास्टर कैसा है? स्टूडेंट सफल होने पर मास्टर का नाम लेते हैं. मुझे एक स्टूडेंट बताओ जिसने सिविल सर्विस होने के बाद मास्टर के तौर पर ओझा का नाम लिया हो. दिलीप मंडल का ये ट्विट वायरल हो रहा है. अब लोग इसपर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं. कई अवध ओझा के सपोर्ट में लिख रहे हैं तो कई उनकी आलोचना कर सकते हैं. 

देश में फिलहाल कई मॉर्डन गुरु हैं. इनके वीडियो वायरल होते हैं.अखबारों के पहले पन्ने अब सिर्फ वॉशिंग मशीन, स्मार्ट टीवी, रेफ्रिजरेटर या फिर प्रोपर्टी के विज्ञापनों से भरे नहीं होते हैं. अब इनमें यूपीएससी कोचिंग के विज्ञापन होते हैं. विकास दिव्यकीर्ति, अवध ओझा और खान सर के लाखों छात्र दीवाने हैं.