menu-icon
India Daily
share--v1

सुनो ईरान, अकेला नहीं है इजरायल!  USA ने जंग के बीच टेस्ट किया खतरनाक हथियार

Iran Israel Conflict: अमेरिका ने मिडिल ईस्ट में बढ़ रहे तनाव के बीच एक खतरनाक इंटरसेप्टर मिसाइल की टेस्टिंग की है. यह मिसाइल पृथ्वी के वायुमंडल से बाहर भी हमला करने में सक्षम है.

auth-image
India Daily Live
SM-3  Ballistic Missile Interceptor

Iran Israel Conflict: ईरान और इजरायल संघर्ष के बीच अमेरिका ने अपने खतरनाक मिसाइल इंटरसेप्टर स्टैंडर्ड मिसाइल 3 (SM-3) का उपयोग किया है. मध्य पूर्व के बिगड़ रहे हालातों के बीच अमेरिका का इस तरह का यह पहला फैसला है. विशेषज्ञ इसे हाल ही में ईरान द्वारा इजरायल पर किए गए हमले से जोड़कर देख रहे हैं. अमेरिका द्वारा इस उन्नत मिसाइल इंटरसेप्टर का यूज आधुनिक रक्षा तकनीकी दुनिया का बेहतरीन उदाहरण है जो तेहरान की टेंशन बढ़ा सकता है.

अमेरिकी नेवी के सचिव कॉर्लोस डेल टोरो ने रक्षा मामलों की उपसमिति को बताया कि SM-3 को ईरानी बैलिस्टिक मिसाइल को इंटरसेप्ट करने के लिए तैनात किया जाएगा. टोरो ने समिति को बताया कि ईरान से सुरक्षा के लिए हम पहले से ही एसएम-2, और एसएम-6 एस का इस्तेमाल कर रहे थे. अब हमने इसमें वृद्धि करते हुए मॉर्डन स्टैंडर्ड मिसाइल सिस्टम SM-3s ईरान से आने वाली बैलिस्टिक मिसाइलों को हवा में तबाह करने में सक्षम है. अमेरिका ने मध्य पूर्व में पहले से ही दो डेस्ट्रायर यूएसएस अर्ले बर्क और यूएसएस कॉर्नी तैनात कर रखे हैं.


स्टैंडर्ड मिसाइल 3 (एसएम-3) एक एंटी-बैलिस्टिक मिसाइल है जिसका उपयोग छोटी से मध्यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइलों को रोकने के लिए किया जाता है.एसएम -3 इंटरसेप्टर नेवी के एजिस कॉम्बैट सिस्टम का हिस्सा है.  इसे छोटी से मध्यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइलों को निशाना बनाने के लिए डिजाइन किया गया है. यह मिसाइल काइनेटिक एनर्जी के आधार पर तयशुदा लक्ष्य से टकराकर उसे नष्ट कर देती है. यह मिसाइल पृथ्वी के वायुमंडल से परे खतरों को भी निपटने में सक्षम है इस खूबी की वजह से इसे एक खतरनाक हथियार बताया जा रहा है.