menu-icon
India Daily
share--v1

जिनपिंग के भारत आने पर सस्पेंस बरकरार! टल सकता है भारत दौरा

भारत में होने वाले जी 20 शिखर सम्मेलन में भाग लेने को लेकर चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की भारत यात्रा को लेकर संशय बरकरार है. रॉयटर्स की खबर के मुताबिक, जिनपिंग जी-20 समिट में शामिल नहीं होंगे.

auth-image
Shubhank Agnihotri
जिनपिंग के भारत आने पर सस्पेंस बरकरार! टल सकता है भारत दौरा


नई दिल्लीः भारत में होने वाले जी 20 शिखर सम्मेलन में भाग लेने को लेकर चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की भारत यात्रा को लेकर संशय बरकरार है. रॉयटर्स की खबर के मुताबिक, जिनपिंग जी-20 समिट में शामिल नहीं होंगे. रिपोर्ट के अनुसार, जिनपिंग की जगह चीन के प्रधानमंत्री ली कियांग बैठक में भाग लेंगे. इसके अलावा शी आसियान देशों की बैठक में भी शामिल नहीं होंगे.


भारत आने की वजह साफ नहीं

भारत में होने वाले इस समिट को उस मंच के तौर पर देखा जा रहा था, जहां चीन के प्रेसिडेंट और अमेरिकी प्रेसिडेंट मिल सकते थे. चीन के अधिकारियों ने कहा कि अभी उन वजहों का पता नहीं चल पाया है कि क्यों वह भारत नहीं आ रहे हैं. चीनी प्रेसिडेंट ने इस साल केवल दो ही विदेश दौरे किए हैं. वे मार्च में रूस और हाल में ब्रिक्स में भाग लेने दक्षिण अफ्रीका गए थे.

दिल्ली ने कर ली थी पूरी तैयारी
इससे पहले कहा जा रहा था कि इस समिट में भाग लेने के लिए जिनपिंग भारत आ सकते हैं. दिल्ली उनके आगमन के लिए जोर-शोर से तैयारियां कर रही थी. दिल्ली में उनके और उनके प्रतिनिधिमंडल के लिए ताज पैलेस को भी बुक किया गया था. ब्रिक्स सम्मेलन के दौरान भारत और चीन के नेताओं के बीच संक्षिप्त वार्ताएं हुई थीं. दोनों नेताओं ने ब्रिक्स सम्मेलन के अंतिम दिन 24 अगस्त को मुलाकात की थी.

 

चीन ने जारी किया मैप
ब्रिक्स समिट में पीएम मोदी और प्रेसिडेंट जिनपिंग के बीच बॉर्डर विवाद सुलझाने को लेकर चर्चा की गई थी. हालांकि इसके पांच दिनों के भीतर ही चीन ने विवादित नक्शा जारी कर और तनाव बढ़ा दिया था. चीन ने इस मैप में अक्साई चिन और अरुणाचल प्रदेश को अपना अभिन्न हिस्सा बताया था. चीन की इस नापाक पर भारत की ओर से कड़ी प्रतिक्रया जताई गई है. विदेश मंत्री चीन के दावों को सिरे से खारिज करते हुए कहा था कि यह उसकी पुरानी आदत है.

 

यह भी पढ़ेंः 7 मिनट के भीतर होगा कैंसर का उपचार! ब्रिटेन ने तैयार किया इंजेक्शन, बना दुनिया का पहला देश