menu-icon
India Daily
share--v1

खालिस्तान समर्थकों ने निकाली इंदिरा गांधी की हत्या की झांकी, भारत ने मांगा जवाब तो जानें क्या बोला कनाडा

Canada: कनाडा में कुछ दिनों पहले खालिस्तानी समर्थकों ने इंदिरा गांधी की हत्या का जश्न मनाते हुए उनके पोस्टर चिपकाए थे. इस मामले में कनाडा सरकार के मंत्री ने कहा था कि इस तरह की हिंसा कनाडा में स्वीकार्य नहीं है. वहीं, अब इस मामले में भारत में कनाडा के राजदूत का भी जवाब आ गया है. उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए इस संबंध में टिप्पणी करते हुए जवाब दिया है.

auth-image
India Daily Live
indira gandhi
Courtesy: Social Media

Canada: कनाडा के वैंकूवर शहर में खालिस्तान समर्थकों द्वारा इंदिरा गांधी की हत्या की झांकी निकाली और उनके पोस्टर लगाए गए. भारत विरोधी लगाए गए इन पोस्टर्स को लेकर कनाडा ने अब जवाब दिया है. भारत में कनाडा के उच्चायुक्त कैमरन मैके ने कहा है कि वैंकूवर में इंदिरा गांधी की हत्या के लगे पोस्टर से कनाडाई सरकार अवगत है. हिंसा को बढ़ावा देना हमें स्वीकार नहीं है.

भारत में कनाडाई उच्चायुक्त कैमरन मैके ने मंगलवार को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर कनाडा में खालिस्तानी समर्थकों ने भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या का जश्न मनाया. उन्होंने पोस्टर में इंदिरा गांधी की हत्यारों को बंदूक पकड़े हुए दिखाया.

कनाडा ने लगाया था भारत पर आरोप

भारत और कनाडा के बीच चल रहे तनावपूर्ण संबंध के बीच यह घटना घटी है. पिछले साल हुई खालिस्तान समर्थक हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के पीछे की साजिश में कनाडा ने भारत का हाथ बताया था. तब से दोनों देशों के रिश्तों में खटास आई है. भारत ने कनाडा के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कनाडा को खालिस्तानी आतंकियों को शरण देने का आरोप लगाया था.

उच्चायुक्त ने दिया जवाब

कैमरन मैके ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर पोस्ट करते हुए लिखा- "कनाडा सरकार को रविवार को ब्रैम्पटन में प्रदर्शित की गई अन्य तस्वीरों की जानकारी है. कनाडा की स्थिति स्पष्ट है. हमें हिंसा को बढ़ावा देना कभी भी स्वीकार्य नहीं है."

कनाडाई मंत्री ने क्या कहा?

इससे पहले कनाडा के मिनिस्टर चंद्र आर्या ने भी इस मामले में टिप्पणी करते हुए कहा था कि कनाडा में किसी भी प्रकार की हिंसा स्वीकार्य नहीं है.

उन्होंने इंदिरा पोस्टर शेयर करते हुए लिखा था- "वैंकूवर में खालिस्तान समर्थक हिंदू भारतीय प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के गोलियों से छलनी शरीर और उनके हत्यारे अंगरक्षकों के हाथों में बंदूक लिए पोस्टर लेकर एक बार फिर हिंदू-कनाडाई लोगों में हिंसा का डर पैदा करने का प्रयास कर रहे हैं. इस तरह की हिंसा कनाडा में स्वीकार्य नहीं है. "