share--v1

6 फीट जमीन के लिए दिनदहाड़े ट्रिपल मर्डर, हत्या में 'गब्बर सिंह' कनेक्शन

लखनऊ में एक ही घर के तीन लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई. 70 साल के एक बुजुर्ग बदमाश 'गब्बर सिंह' ने अपने ही रिश्तेदारों को मौत के घाट उतार दिया.

auth-image
Gyanendra Sharma
फॉलो करें:

Triple murder: यूपी की राजधानी लखनऊ से खौफ में भर देने वाला मामला सामने आया है, जहां पर जमीन के 6 फीट टुकड़े के लिए ट्रिपल मर्डर को अंजाम दिया गया. हत्यारों ने एक ही परिवार के तीन लोगों (जिसमें भतीजी, नाती और चचेरे भाई शामिल थे) को दिनदहाड़े घर में घुसकर भून दिया. 

यह मामला लखनऊ के मलिहाबाद के मोहम्मदनगर- रहमतनगर गांव का है जहां पर 70 साल के एक बुजुर्ग बदमाश ने अपने ही रिश्तेदारों को मौत के घाट उतार दिया. घटना का सीसीटीवी फुटेज सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें हत्यारे बैखौफ अंदाज में गोली चलाते नजर आ रहे हैं.

 

हिस्ट्रीशीटर है मुख्य आरोपी

हिस्ट्रीशीटर लल्लन उर्फ गब्बर खान और उसके बेटे फराज ने व्यापारी फरीद के घर में घुसकर उनकी पत्नी, बेटे और चचेरे भाई पर गोलियां बरसा दी. तीनों की मौके पर ही मौत हो गई. मुख्य आरोपी लल्लन खान उर्फ गब्बर खान जो कि एक हिस्ट्रीशीटर है, पहली गोली चलाता है. इसके बाद उसका बेटा अपने बाप के हाथ से टेलीस्कोपिक गन खुद थाम लेता है. घर के दरवाजे पर जाकर दूसरी गोली चलाता है.  तीन लोगों को गोली मारने के बाद बदमाश आराम से अपनी गाड़ी में बैठते हैं और मौके से फरार हो जाते हैं. 

लल्लन खान उर्फ गब्बर खान 

हत्याकांड का मुख्य आरोपी 70 साल का लल्लन खान है जो कि गब्बर खान के नाम से भी मशहूर है. अपने समय के सबसे खौफनाक गुंडों में शुमार लल्लन खान पर दो दर्जन से अधिक केस दर्ज हैं. उसको लेकर यह भी बात सामने आई है कि अपने जमाने में वो घोड़े से चला करता था और खुद को गब्बर सिंह बुलाता था. साल 1985 में उसके घर कई हथियार बरामद हुए थे. इतना ही नहीं लल्लन खान के दो बेटे पोलैंड में रहते हैं. उसका भी पासपोर्ट बना हुआ है और वह पोलैंड जा चुका है.

एक ही गांव के रहले वाले हैं लल्लन खान और फरीद खान

हत्या जिस जमीन के लिए हुई उसकी अदालत में सुनवाई चल रही थी. डीसीपी पश्चिम राहुल राज के मुताबिक, फरीद के दो रेस्टोरेंट हैं. वह प्रॉपर्टी का काम करते हैं. हिस्ट्रीशीटर लल्लन खान का विवाद अपने गांव के ही रहने वाले फरीद खान (लल्लन के रिश्ते में दामाद) से चल रहा था. शुक्रवार को मीठेनगर में इस विवादित जमीन की पैमाइश होनी थी और इसी को लेकर फरीद को समन आया था.

जानें कैसे घटना को दिया गया अंजाम

फरीद के मुताबिक वह शुक्रवार को जब मौके पर जा रहे थे तो उनको पता चला कि पैमाइश हो चुकी है तो वह वापस घर लौट गए. करीब साढ़े तीन बजे लल्लन खान अपने बेटे फराज खान और दो अज्ञात लोगों के साथ फरीद के घर पहुंचते हैं जहां वो एक बहस के बाद ताबड़तोड़ गोलियां बरसाते नजर आए. इस गोलीबारी में फरीद के 15 वर्षीय बेटे हंजला, 35 वर्षीय पत्नी फरहीन और बीच-बचीव करने पहुंचे 55 वर्षीय चाचा मुनीर को गोलियां लगी. तीनों की मौके पर ही मौत हो गई.

Also Read

First Published : 03 February 2024, 06:39 PM IST