menu-icon
India Daily
share--v1

एक और मोहन को कमान, ओडिशा के मुख्यमंत्री होंगे मोहन मांझी, डिप्टी सीएम बनेंगे के वी सिंह

Odisha Announces new CM and Deputy CM: नवीन पटनायक के 24 साल के कार्यकाल के बाद अब भारतीय जनता पार्टी ओडिशा में अपनी पहली सरकार बनाने को तैयार है. ओडिशा में शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन 12 जून को शाम 5 बजे होना तय है जिसके लिए मंगलवार शाम 5 बजे से ही विधायक दल की मीटिंग जारी है.

auth-image
India Daily Live
Mohan Charan Manjhi
Courtesy: IDL

Odisha Announces new CM and Deputy CM: ओडिशा में अपनी पहली सरकार बनाने के लिए तैयार भाजपा ने मंगलवार को मोहन मांझी को अपने नए मुख्यमंत्री के रूप में चुन लिया है. शाम 5 बजे से जारी भाजपा के विधायक दल की बैठक में ये फैसला लिया गया जिसमें मोहन चरण मांझी को विधायक दल का नेता चुना गया.

ओडिशा में चुने गए दो डिप्टी सीएम

अब मोहन चरण मांझी नए सीएम के रूप में बुधवार को शपथ लेंगे तो वहीं राज्य के लिए दो डिप्टी सीएम का ऐलान किया गया है. जहां कनक वर्धन सिंह देव को पहले डिप्टी सीएम के रूप में चुना गया है तो वहीं प्रभाती परीदा को भी दूसरे डिप्टी सीएम के रूप में चुना गया है. 

भगवान जगन्नाथ को मिला शपथ ग्रहण का पहला निमंत्रण

इससे पहले बीजेपी ने 12 जून को होने वाले शपथ ग्रहण समारोह के लिए पहला निमंत्रण कार्ड पुरी में भगवान जगन्नाथ को दिया गया था, और इसे कुछ नवनिर्वाचित विधायकों द्वारा 12वीं शताब्दी के मंदिर में वितरित किया गया था. प्रभाती परिदा, पृथ्वीराज हरिचंदन, इराशीष आचार्य और आश्रित पटनायक सहित निर्वाचित विधायकों का एक समूह एक कार्ड, दो नारियल, सुपारी और चावल लेकर भगवान को समारोह के लिए आमंत्रित करने के लिए थाली में रखकर पुरी के जगन्नाथ मंदिर गया.

नवीन पटनायक को भी मिला शपथ ग्रहण का निमंत्रण

भाजपा ओडिशा इकाई के अध्यक्ष मनमोहन सामल के नेतृत्व में पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल पटनायक के आवास नवीन निवास गया और बुधवार शाम 5 बजे होने वाले शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए उन्हें औपचारिक रूप से आमंत्रित किया. वहीं बीजेडी अध्यक्ष और निवर्तमान मुख्यमंत्री नवीन पटनायक को भी शपथ ग्रहण समारोह के लिए आमंत्रित किया है. सुरेश पुजारी, बसंत पांडा, समीर मोहंती और नित्यानंद गोंड जैसे वरिष्ठ नेता सामल के साथ थे.

सामल ने संवाददाताओं से कहा, "नवीन बाबू ने निमंत्रण स्वीकार कर लिया है और हमें आश्वासन दिया है कि वह समारोह में शामिल होंगे."

राजनाथ सिंह-भूपेंद्र यादव की मौजूदगी में हुआ ऐलान

भाजपा के ओडिशा प्रभारी विजय पाल सिंह तोमर ने बताया कि विधायक दल की बैठक में नवनियुक्त पर्यवेक्षकों राजनाथ सिंह और भूपेंद्र यादव के नेतृत्व में चर्चा की गई और उसी के बाद ही नेताओं का चयन किया गया. गौरतलब है कि 147 सदस्यीय ओडिशा विधानसभा में भाजपा ने 78 सीटें जीतकर बहुमत हासिल किया.