menu-icon
India Daily
share--v1

'न्याय यात्रा पॉलिटिकल टूरिज्म.. 2024 नहीं 2029 की करें तैयारी..',कांग्रेस नेता प्रमोद कृष्णम ने उठाए सवाल

 कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने राहुल गांधी की अगुवाई वाली भारत जोड़ो न्याय यात्रा पर कटाक्ष किया है. आचार्य प्रमोद कृष्णम ने इस यात्रा को राजनीतिक पर्यटन कहा है.

auth-image
Avinash Kumar Singh
Acharya Pramod Krishnam

हाइलाइट्स

  • कांग्रेस नेता प्रमोद कृष्णम ने उठाए सवाल
  • भारत जोड़ो न्याय यात्रा पर प्रमोद कृष्णम ने किया कटाक्ष

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने राहुल गांधी की अगुवाई वाली भारत जोड़ो न्याय यात्रा पर कटाक्ष किया है. आचार्य प्रमोद कृष्णम ने इस यात्रा को राजनीतिक पर्यटन कहा है. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी भारत जोड़ो न्याय यात्रा कर रही है जबकि अन्य पार्टियां 2024 के लोकसभा चुनावों के लिए युद्धस्तर पर तैयारियों में जुटी हुई हैं. 

'न्याय यात्रा पॉलिटिकल टूरिज्म.. 2024 नहीं 2029 की तैयारी..'

आचार्य प्रमोद कृष्णम ने बड़ा बयान जारी करते हुए कहा "कांग्रेस पार्टी में कुछ बहुत महान और बुद्धिमान नेता हैं. जहां एक तरफ सभी राजनीतिक पार्टियां 2024 चुनाव के लिए कमर कस रही हैं तो वहीं दूसरी तरफ पूरी कांग्रेस पार्टी पॉलिटिकल टूरिज्म कर रही है, वे यात्रा कर रहे हैं. दरअसल हम यह पता लगाएंगे कि 2024 के बाद 2029 का चुनाव कैसे जीता जाए. ऐसा लगता है कि हम 2029 के चुनाव के लिए खुद को तैयार कर रहे हैं. अगर हम 2024 के लिए तैयारी कर रहे होते तो ऐसा नहीं होता."

भारत जोड़ो न्याय यात्रा बिहार में दाखिल 

14 जनवरी को मणिपुर से शुरू हुई भारत जोड़ो न्याय यात्रा आज बिहार में प्रवेश कर गई है. इसके एक दिन पहले नीतीश कुमार ने 18 महीने का महागठबंधन समाप्त करके एनडीए में शामिल हुए और उन्होंने CM पद की शपथ ली है. नीतीश कुमार की अगुवाई वाली महागठबंधन सरकार में कांग्रेस भी साझेदार दल थी. यह यात्रा बिहार के मुस्लिम आबादी वाले किशनगंज जिले से होते हुए बिहार में दाखिल हुई है जो कांग्रेस का गढ़ भी है. 2020 के विधानसभा चुनाव अभियान के बाद राहुल गांधी का यह पहला बिहार दौरा है. राहुल गांधी बिहार के किशनगंज में एक सार्वजनिक बैठक को संबोधित करने वाले हैं, इसके बाद मंगलवार को पूर्णिया के निकटवर्ती जिले में और एक दिन बाद कटिहार में एक रैली करेंगे.