share--v1

हरदा बलास्ट में 11 की मौत 50 से ज्यादा घायल, जानें अब तक क्या-क्या हुआ

Harda Firecracker Factory Blast: मध्य प्रदेश के हरदा स्थित पटाखा फैक्ट्री में जोरदार धमाका हुआ है. इस हादसे में मरने वालों की स्ख्या में लगातार इजाफा देखने को मिल रही है. प्रदेश के मुख्यमंत्री इस घटना पर लगातार नजर बनाए हुए हैं.

auth-image
Purushottam Kumar
फॉलो करें:

Harda Firecracker Factory Blast: मध्य प्रदेश के हरदा जिले में स्थित एक पटाखा फैक्ट्री में जोरदार धमाका हुआ है. इस धमाके में 11 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई है और 74 लोगों के झुलसने की खबर सामने आ रही है. हादसे में गंभीर रूप से झुलसे 63 लोगों का जिला अस्पताल में इलाज जारी है तो वहीं, 11 में से लोगों को बेहतर इलाज के लिए नर्मदापुरम और 7 लोगों को भोपाल एम्स रेफर कर दिया गया है.

हरदा जिला कलेक्टर ने बताया कि आज सुबह एक पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट हो गया. बचाव अभियान चल रहा है. घायलों का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है और गंभीर रूप से घायल मरीजों को भोपाल और इंदौर शिफ्ट किया जा रहा है.''

सीएम ने हादसे की जानकारी ली

पटाखा फैक्ट्री में हुए इस घटना पर प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव लगातार नजर बनाए हुए हैं. सीएम ने इस घटना में जान गंवाने वाले लोगों के लिए मुआवजे का ऐलान कर दिया है. सीएम ने हादसे की जानकारी ली और एक आपात बैठक कर अधिकारियों को जरूरी दिशा-निर्देश दिए हैं. सीएम मोहन यादव ने गृह सचिव से हादसे की पूरी रिपोर्ट मांगी है.

मृतकों के परिजनों के लिए मुआवजे का ऐलान

विस्फोट में घायल होने वाले और जान गंवाने वाले लोगों के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव ने एक बड़ा ऐलान किया है. सीएम मोहन यादव ने बताया कि हादसों में घायल हुए लोगों के इलाज का पूरा खर्च सरकार उठाएगी. उन्होंने कहा कि हादसे में गंभीर रूप से घायल लोगों को बेहतर इलाज के लिए भोपाल, इंदौर भेजा गया है. सीएम मोहन यादव ने आगे कहा कि हादसे में जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों को चार-चार लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा. इसके अलावा उनके बच्चों की पढ़ाई-लिखाई का खर्च भी सरकार द्वारा उठाई जाएगी. 

राहत और बचाव सामग्री भेजी गई 

हादसे के बाद नर्मदापुरम और बैतूल से SDRF के जवान और राहत सामग्री भेजी गई है. नर्मदापुरम से तीन एम्बुलेंस, फायर ब्रिगेड की 6 गाड़ियां के साथ-साथ SDRF के 19 जवानों को हरदा भेजा गया है. इसके अलावा बैतूल से भी SDRF के 15 जवान, होमगार्ड एक पीसी और एक वाहन फोर्स भेजी गई है. मिल रही जानकारी के अनुसार, बैरागढ़ स्थित पटाखा फैक्ट्री में यह हादसा हुआ है. फैक्ट्री में अभी भी कई लोगों के फंसे होने की आशंका जताई जा रही है.

स्थानीय प्रशासन ने बताया कि हादसे में मरने वालों की संख्या बढ़कर 8 हो गई है. जिला अस्पताल में 63 लोगों को इलाज किया जा रहा है. वहीं, 11 लोगों को बेहतर इलाज के लिए नर्मदापुरम और भोपाल भेजा गया है. पुलिस और प्रशासन के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे हुए हैं और आग पर पूरी तरह से काबू पाने की कोशिश जारी है.  इस घटना ने बाद रिहायशी इलाकों में पटाखा फैक्ट्री होने पर एक बार फिर सवाल खड़े हो गए हैं.

Also Read

First Published : 06 February 2024, 03:50 PM IST