share--v1

1951 में देश में आम चुनाव के पहले कराया गया था नकली आम चुनाव, इसके पीछे थी ये वजह

Lok Sabha Elections 2024 : देश में साल 1951 में पहला आम चुनाव हुआ था. यह बात करीब- करीब सभी लोगों को पता है, लेकिन क्या आपको पता है कि देश में 1951 में नकली आम चुनाव कराया गया था.

auth-image
Pankaj Soni

Lok Sabha Elections 2024 : लोकसभा चुनाव 2024 के लिए पहले चरण का मतदान 19 अप्रैल को होगा. इसके लिए नामांकन प्रकिया पूरी हो चुकी है. राजनीतिक दल चुनाव प्रचार में लगे हुए हैं. 18वीं लोकसभा के लिए 2024 में चुनाव हो रहे हैं. आज हमदेश के चुनावी इतिहास के बारे में ऐसी बातें भी बता रहे हैं, जो बेहद रोचक हैं. देश में पहले आम चुनाव के पहले नकली आम चुनाव कराए गए थे.  

पहला लोकसभा चुनाव कितने लंबा चला ?

देश में पहला आम चुनाव 1952 में हुआ था. उस समय देश में 489 सीटों पर चुनाव हुए थे. देश में पहले आम चुनाव में 53 दलों ने हिस्सा लिया था. पहला आम चुनाव 25 अक्टूबर 1951 से फरवरी 1952 तक चला था. पहले चुनाव के नतीजे 10 फरवरी 1952 को घोषित हुए थे. इस चुनाव में पंडित जवाहर लाल नेहरू के नेतृत्व में भारत की पहली सरकार बनी थी. तब कांग्रेस को पहले आम चुनाव में 364 सीटें मिली थीं.

असली चुनाव से पहले हुए थे नकली चुनाव

देश में पहले आम चुनाव की बात करें तो क्या आपको पता है कि पहले आम चुनाव के शुरू होने से पहले देश में नकली चुनाव कराए गए थे? अगर आपको इसके बारे में पता नहीं तो यह बात सच है. असली चुनाव से पहले देश में नकली आम चुनाव कराए गए थे. असली आम चुनाव के शुरू होने से ठीक पहले सितंबर, 1951 में देश में नकली चुनाव कराए थे.

नकली आम चुनाव का क्या था मकसद?

सितंबर, 1951 में नकली आम चुनाव कराने के पीछे बड़ी वजह थी. देश में पहली बार चुनाव होना था. अधिकारियों को चुनाव कराने का और जनता को मतदान का अनुभव नहीं था. ऐसे में दोनों को प्रक्रिया के बारे में समझाने के लिए इस तरह का चुनाव कराया गया था.  

लोगों को चुनावी प्रक्रिया को समझाने और वोट डालने का तरीका बताने के लिए नकली चुनाव अभियान चलाया गया था. दरअसल, देश में इससे पहले कभी भी वोटिंग (Voting) प्रक्रिया के तहत सरकार नहीं चुनी गई थी, कई तरह के अलग-अलग शासनकाल को देखने के बाद देश में पहली बार चुनाव हो रहे थे, इसलिए लोगों को इस प्रक्रिया के बारे में कुछ भी पता नहीं था. ऐसे में लोगों को चुनावी प्रक्रिया से परिचित कराने के लिए नकली चुनाव कराए गए थे.

Also Read