share--v1

NIA का बड़ा एक्शन, विदेशों में भारतीय दूतावासों पर हमलों में शामिल 43 संदिग्धों की पहचान की

संदिग्धों की पहचान के लिए NIA ने हमले के अलग-अलग सीसीटीवी फुटेज जारी किए थे और हमले के आरोपियों की पहचान के लिए क्राउड सोर्सिंग का यूज किया था. 

auth-image
Om Pratap

हाइलाइट्स

  • दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल में भी दर्ज किया था मामला
  • NIA ने संदिग्धों की पहचान के लिए किया क्राउड सोर्सिंग का यूज

Indian embassies attacks case NIA identifies suspects: विदेशों में भारतीय दूतावासों पर हमलों की जांच में जुटी राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने 43 खालिस्तानी संदिग्धों की पहचान की है. बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्रालय के आदेश के बाद NIA ने कनाडा, ब्रिटेन और अमेरिका में भारतीय दूतावासों पर हुए हमले की जांच शुरू की थी. पिछले साल लंदन दूतावास के साथ-साथ सैन फ्रांसिस्को और कनाडा स्थित भारतीय दूतावास पर हमला किया गया था.

जानकारी के मुताबिक, क्राउड सोर्सिंग का यूज कर राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने इन संदिग्धों की पहचान की है. बताया जा रहा है कि संदिग्धों की पहचान के बाद देशभर में अलग-अलग जगहों पर छापेमारी की गई है और करीब 80 लोगों से पूछताछ भी की गई है. 

भारतीय दूतावासों पर किए गए थे बर्बर हमले

पिछले साल यानी 2023 के मार्च और जुलाई में भारतीय राजनयिकों को निशाना बनाते हुए दूतावासों पर हमले किए गए थे. इसके बाद NIA बर्बरता, सार्वजनिक संपत्ति और दूतावास के कर्मचारियों को नुकसान पहुंचाने की कोशिश के साथ-साथ हिंसा भड़काने समेत दूसरे आरोपों के संबंध में जांच में जुट गई थी. कहा जा रहा है कि दूतावासों पर हमलों के संदिग्धों के बारे में जानकारी जुटाने के लिए NIA की टीम अगस्त 2023 में सैन फ्रांसिस्को भी गई थी.

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल में भी दर्ज किया था मामला

बता दें कि सैन फ्रांसिस्को और कनाडा में भारतीय दूतावास पर हमले के बाद दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने भी UAPA के तहत मामला दर्ज किया था. जानकारी के मुताबिक, संदिग्धों की पहचान के लिए NIA ने हमले के अलग-अलग सीसीटीवी फुटेज जारी किए थे और हमले के आरोपियों की पहचान के लिए क्राउड सोर्सिंग का यूज किया था. 

Also Read

First Published : 01 January 2024, 09:25 AM IST