menu-icon
India Daily
share--v1

समाजवादी पार्टी की एक और लिस्ट जारी, जातियों को साधने की कोशिश, कहां किसे मिला मौका?

समाजवादी पार्टी ने मछली शहर से सुप्रिया सरोज को उतारा है, वहीं फूलपुर से अमरनाथ मौर्य को उतारा है. फूलपुर में कुर्मी वोटर निर्णायक भूमिका निभाते हैं लेकिन सपा ने मौर्य-कुशवाहा वोटरों को साधने के लिए नया दांव चला है.

auth-image
India Daily Live
Akhilesh Yadav
Courtesy: तस्वीर- सोशल मीडिया.

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) ने उत्तर प्रदेश के लिए उम्मीदवारों की एक नई सूची जारी कर दी है. सपा की नई सूची में 7 लोकसभा सीटों पर उम्मीदवारों के नाम का ऐलान किया गया है. सपा ने इस लिस्ट में जातीय समीकरण बैठाने की भरपूर कोशिश की है. अखिलेश यादव, पहले भी ऐसी सोशल इंजीनियरिंग करते रहे हैं.

फूलपुर लोकसभा सीट से अखिलेश यादव ने इस बार अमरनाथ मौर्य को टिकट दिया है. श्रावस्ती लोकसभा सीट से राम शिरोमणि वर्मा को उतारा है. डुमरियागंज से दिवंगत बाहुबली नेता भीष्म शंकर 'कुशल' तिवारी को टिकट दिया है. संतकबीर नगर से लक्ष्मीकांत उर्फ पप्पू निषाद को टिकट दिया है.

सलेमपुर से सपा ने रमाशंकर राजभर को उतारा है. जौनपुर से बाबू सिंह कुशवाहा को उतारा है. मछली शहर से चर्चित नेता प्रिया सरोज को टिकट दिया गया है. समाजवादी पार्टी ने ज्यादातर सीटों पर जातीय समीकरण को साधते हुए उम्मीदवार उतारा है.

फूलपुर में दिलचस्प होगा मुकाबला
फूलपुर से भारतीय जनता पार्टी ने प्रवीण पटेल को टिकट दिया है. बीजेपी ने कुर्मी वोटरों को साधने की कोशिश की है तो अखिलेश ने इसके उलट यहां मौर्य उम्मीदवार को उतार दिया है. यहां मौर्य-कुशवाहा समाज की आबादी भी अच्छी है और वे चुनावों में अहम भूमिका निभाते हैं.

डुमरियागांज में भी सपा ने साधा जातीय समीकरण
डुमरियागंज में भी अब मुकाबला दिलचस्प हो गया है. डुमरियागंज संसदीय सीट से बीजेपी ने जहां जगदंबिका पाल को एक बार फिर टिकट दिया है, वहीं सपा ने कुशल तिवारी को उतार दिया है. यह ब्राह्मण बाहुल सीट है. यहां ब्राह्मण वोटर निर्णायक भूमिका निभाते हैं. यहां मुस्लिम और यादव वोटरों की संख्या भी अधिक है. ऐसी स्थिति में सपा उम्मीदवार अब मजबूत स्थिति में आ गए हैं.