share--v1

UP News: समाजवादी पार्टी की बैठक में जमकर चले लात-घूंसे, सांसद के सामने ही पार्टी नेता को पीटा

Lok Sabha Elections 2024: समाजवादी पार्टी में लोकसभा चुनाव के पहले गुटबाजी की खबर है. अमरोहा में दानिश अली के एक कार्यक्रम में समाजवादी पार्टी के एक नेता की पिटाई का मामला सामने आया है. आइए, जानते हैं पूरा मामला क्या है.

auth-image
India Daily Live

Lok Sabha Elections 2024: लोकसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी में गुटबाजी की खबर सामने आई है. इसकी तस्वीर तब सामने आई, जब अमरोहा में समाजवादी पार्टी की एक बैठक में जमकर लात-घूंसे चलने लगे. परिचय के लिए बुलाई गई मीटिंग में मौजूद सांसद दानिश अली के सामने ही कुछ लोगों ने पार्टी के एक नेता की मंच पर पिटाई कर दी. फिलहाल, मामले में पुलिस को तहरीर दी गई है. जांच पड़ताल की बात कही जा रही है.

बताया जा रहा है कि मंगलवार को धनौरा के एक होटल में समाजवादी पार्टी की एक बैठक बुलाई गई. बैठक में कांग्रेस-समाजवादी गठबंधन से प्रत्याशी दानिश अली भी मौजूद थे. इसी दौरान समाजवादी पार्टी के पूर्व नगर अध्यक्ष खन्ना चौधरी, दानिश अली की बुराई करने लगे. मंच पर मौजूद सांसद दानिश अली के सामने ही खन्ना चौधरी ने पिछले 5 साल में की गई उनकी गलतियों को गिनाने लगे. इसी दौरान, समाजवादी पार्टी के मौजूदा जिलाध्यक्ष मस्तराम यादव और उनके समर्थकों ने खन्ना चौधरी को पीटना शुरू कर दिया.

खन्ना चौधरी की पिटाई के बाद हुआ हंगामा, वीडियो भी वायरल

खन्ना चौधरी की पिटाई के बाद बुलाई गई बैठक में जमकर हंगामा होने लगा. इस पूरे मामले का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल है. इससे पहले भी समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता आपस में उलझ चुके हैं. मंगलवार को घटना के बाद खन्ना चौधरी ने बछरायूं थाने में मस्तराम यादव समेत अज्ञात के खिलाफ तहरीर देकर मुकदमा दर्ज करने की मांग की. खन्ना चौधरी ने एक वीडियो जारी कर पूरी घटना की जानकारी दी है. खन्ना चौधरी की तहरीर और उनके वीडियो को देखने के बाद पुलिस ने जांच पड़ताल कर कार्रवाई की बात कही है.

घटना को लेकर क्या बोले मस्तराम यादव?

घटना को लेकर मौजूदा जिलाध्यक्ष मस्तराम यादव ने कहा कि जिन्होंने (खन्ना चौधरी) आरोप लगाया है, वे समाजवादी पार्टी में किसी पद पर नहीं है. सांसद के लिए आयोजित कार्यक्रम में वे (खन्ना चौधरी) जबरन मंच पर पहुंच गए और माइक लेकर सांसद दानिश अली के खिलाफ बोलने लगे. उन्होंने कहा कि खन्ना चौधरी को रोकने की कोशिश की गई, लेकिन उन्होंने अभद्रता करनी शुरू कर दी. इसके बाद कुछ कार्यकर्ताओं से उनकी नोकझोंक हो गई. 

अमरोहा से अरूण चाहल की रिपोर्ट.

Also Read