share--v1

दलित मासूम को पानी पीने की मिली रूह कंपा देने वाली सजा, पिता को जान से मारने की धमकी

Dalit Boy Beaten: राजस्थान के अलवर जिले से एक ऐसी खबर सामने आ रही है जो समाज के विकसित सोच पर सवाल खड़े कर रही है. एक उच्च जाति के आदमी ने 8 साल के दलित बच्चे को बेरहमी से पीटा है.

auth-image
India Daily Live

Rajasthan Dalit Boy Beaten: राजस्थान से एक ऐसी खबर है जो आपको झकझोर कर रख देगी. कथित तौर 8 साल के एक दलित मासूम के साथ कुछ इस तरह का व्यवहार किया गया जो समाज की संकीर्ण दकियानूसी सोच को दर्शाता है. पूरा मामला राजस्थान के अलवर जिले का है. यहां एक बच्चा  हैंड पंप पर पानी पीने जाता है और गलती से वहां रखी एक बाल्टी को छू लेता है तो उसे ऐसी सजा दी जाती जिसकी आज के समाज में कल्पना करना भी गलत है.

अलवर जिले के रामगढ़ थाना क्षेत्र के मंगलेशपुर में शनिवार को 8 साल के चिराग नाम के लड़के को उच्च जाति के रतिराम ठाकुर ने बेरहमी से पीटा. गुस्से से लाल हुए रतिराम ठाकुर ने मासूम दलित बच्चे चिराग से सवाल किया कि आखिर उसने उनकी बाल्टी को छूने की हिम्मत कैसे की?

जान से मारने की धमकी

इस घटना के बारे में मासूम ने जब अपने घर पर बताया तो घरवाले ठाकुर के घर गए. जहां पर उन्हें दलित परिवार को एक और धक्का लगा. वहां उन्हें दलित होने के चलते जान से मारने की धमकी दी गई.

इस घटना को लेकर जब चिराग के परिवार वाले स्कूल के प्रिंसिपल के पास गए तो प्रिंसिपल ने उन्हें पुलिस के पास भेज दिया. इसके बाद बच्चे के पिता रामगढ़ पुलिस स्टेशन पर शिकायत दर्ज कराने पहुंचे. पुलिस ने मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी है.

बच्चे के पिता बोले- मुझे सिर्फ इंसान चाहिए

इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए चिराग के पिता ने कहा - स्कूल बाउंड्री के अंदर एक हैंडपंप है, जहां से गांव के लोग भी पानी भरते हैं. मेरा बच्चा नल में पानी पीने के लिए गया था, वहां रतिराम ठाकुर की बाल्टी रखी थी, जिसे हटाकर मेरा बेटा पानी पीने लगा. बाल्टी हटाने के लिए मेरे बेटे को उच्च जाति के ठाकुर ने बेरहमी से पीटा.

उन्होंने आगे कहा कि मेरा बच्चा बहुत ही डरा हुआ है. वह मुझसे कह रहा है कि मुकदमा वापस ले लो. वह इतना डरा है कि स्कूल न जाने की बात कह रहा है. मुझे सिर्फ इंसाफ चाहिए.

Also Read