menu-icon
India Daily
share--v1

कैसे होती है साइबर ठगी? स्कैमर ने चैट में खुद खोली पोल

एक स्कैमर ने वॉट्सऐप चैट के दौरान खुद बताया कि आखिर वह लोगों को कैसे ठगते हैं. इस चैट को पढ़ने के बाद आप हैरान रह जाएंगे.

auth-image
India Daily Live
Cyber ​​Fraud

तकनीक के जितने अधिक फायदे हैं, उतने ही नुकसान भी हैं. हमें आए दिन लोगों के साथ साइबर फ्रॉड होने की खबरें पढ़ने को मिलती हैं. आपने साइबर फ्रॉड की खबरें तो बहुत पढ़ी होंगीं लेकिन क्या किसी साइबर ठग ने आपको ठगी करने का तरीका बताया है? आप सोच रहे होंगे कि भला कोई साइबर ठग क्यों बताएगा कि वह लोगों को कैसे ठगता है, लेकिन यहां हम आपको जो बताने जा रहे हैं उसे जानकर आपके तोते उड़ जाएंगे.

एक @ChettyArun के यूजर ने एक स्कैमर  से बात की और बातों ही बातों में उसने पॉइंट-टू-पॉइंट बता दिया कि आखिर साइबर फ्रॉड को कैसे अंजाम दिया जाता है. @ChettyArun ने साइबर फ्रॉड के साथ हुई वॉट्सऐप चैट के सारे स्क्रीनशॉट शेयरर किये हैं, जिन्हें पढ़कर आपकी समझ में आ जाएगा कि आखिर साइबर फ्रॉड कैसे किया जाता है.

स्कैम करने का यह तरीका कुछ ऐसा है कि स्कैमर आपके वॉट्सऐप पर एक APK फाइल डाउनलोड करने का लिंक भेजता है. जैसे ही कोई शख्स इस APK फाइल को डाउनलोड करता है, तभी खेल हो जाता है. 

APK (Android Package Kit) फाइल डाउनलोड करने के साथ ही आपके फोन में keylogger स्पाइवेयर इंस्टाल हो जाता है. इसके बाद यूजर के सारे मैसेज, ओटीपी और जो कुछ भी वह अपने फोन में टाइप करता है यानी सारी जानकारी स्कैमर के मोबाइल पर आने लगती है. कुल मिलाकर आपके मोबाइल का पूरा एक्सेस अब स्कैमर के पास आ जाता है.

स्कैमर @ChettyArun के यूजर की बातों से इतना इंप्रेस हो जाता है कि वह खुद उसे बता देता है अगर APK फाइल का कोई लिंग आपके फोन पर आता है तो उसे डाउनलोड न करें. हालांकि जब चेट्टी अरुण स्कैमर से पूछते हैं कि आपको लोगों के फोन नंबर कहां से मिल जाते हैं? तो स्कैमर इसका जवाब नहीं देता. अंत में एक-दूसरे को Good Luck दोनों की बातचीत समाप्त होती है.

 

 

 

इस चैट पर लोगों की ढेरों प्रतिक्रियाएं आ रही हैं. एक यूजर ने कमेंट कर लिखा- यह किसी भी कॉमेडी शो से ज्यादा मनोरंजक था.