share--v1

JSW and Volkswagen EV Deal: भारत बनेगा ईवी इंडस्ट्री का हब, ये कंपनी करने जा रही है बड़ी डील

JSW and Volkswagen EV Deal: इंडिया में इलेक्ट्रिक व्हीकल बनाने के लिए भारत का जे एस डब्ल्यू ग्रुप और जर्मनी के वोक्सवैगन समूह के बीच बातचीत चल रही है.

auth-image
India Daily Live

JSW and  Volkswagen EV Deal: वो दिन दूर नहीं जब भारत इलेक्ट्रिक व्हीकल की दुनिया में एक नया इतिहास रचेगा. क्योंकि भारत की टाटा, महिंद्रा और ओला जैसी कंपनियां इलेक्ट्रिक गाड़ियां बना रही हैं. अब इस कड़ी में एक और कंपनी की भी एंट्री होने जा रही है. भारत के बिलेनियर सज्जन जिंदल का JSW ग्रुप और वोक्सवैगन समूह (Volkswagen Group) के बीच भारत में ईवी व्हीकल बनाने के लिए बातचीत चल रही है. मनी कंट्रोल की रिपोर्ट के अनुसार दोनों कंपनियां साझेदारी के तहत भारत में जल्द ही EV का उत्पादन शुरू कर सकती हैं. 

खबरों की मानें तो इस महीने की शुरुआत में ही दोनों कंपनियों के बीच बातचीत शुरू हुई थी. अगर दोनों के बीच डील होती है तो भारत में EV इंडस्ट्री और भी तेजी के साथ बूस्ट करेगी. 
 

ओडिशा सरकार के साथ हो चुकी है डील

JSW ग्रुप ईवी की दुनिया में पहले ही कदम रख चुका है. ग्रुप ने ओडिशा सरकार के साथ कटक और पारादीप में ईवी और बैटरी उत्पादन के लिए प्लांट लगाने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं. इस प्रोजेक्ट में कंपनी करीब 40,000 करोड़ रुपये का निवेश करेगी. 

इससे पहले दिसंबर में जे एस डब्ल्यू ग्रुप ने चीन की मोटर कंपनी एमजी मोटर के साथ भारतीय बाजार के लिए ईवी बनाने के लिए समझौता किया था. हालांकि इस समझौते की फाइनेंसियल डीटेल सार्वजनिक नहीं की गई थी. लेकिन खबरों के मुताबिक इस डील में JSW ग्रुप की 35 फीसदी हिस्सेदारी होगी. 

हिस्सेदारी बेचना चाहती है वोक्सवैगन

JSW ग्रुप और वोक्सवैगन की डील इस लिए भी हो रही है क्योंकि रिपोर्ट्स के मुताबिक वोक्सवैगन अपनी भारतीय सहायक कंपनी स्कोडा ऑटो वोक्सवैगन इंडिया में अपनी हिस्सेदारी को बेचना चाह रही है. इस पर कंपनी कई दिनों से विचार भी कर रही है. जर्मनी की यह कंपनी भारतीय बाजार के लिए किसी भारतीय कंपनी के साथ साझेदारी करना चाहती है. इसलिए वोक्सवैगन और जे एस डब्ल्यू ग्रुप की बातचीत चल रही है. 

Also Read