menu-icon
India Daily
share--v1

Rajasthan News in Hindi: फीमेल डॉग 'मैरी' का हुआ ट्रांसफर तो विभाग ने दी नम आंखों से विदाई

Rajasthan News in Hindi: राजस्थान के उदयपुर में सीआईडी फीमेल डॉग को शानदार तरीके से विदाई दी गई है. मामला सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. फीमेल कुत्ते का नाम मैरी है.

auth-image
India Daily Live
Rajasthan News in Hindi

Rajasthan News in Hindi: जब कोई कर्मचारी रिटायर होता है या उसका ट्रांसफर होता है तो विभाग वाले उसे फेयरवेल देते हैं. ट्रांसफर या रिटायर हो रहे कर्मचारी का विदाई समारोह होता है. विदाई समारोह में उसका धूमधाम से स्वागत किया जाता है. लेकिन क्या कभी आपने सुना है कि एक कुत्ते को विभाग ने नम आंखों के साथ माला -फूल पहनाकर उसे विदा किया? एक ऐसी ही खबर राजस्थान के उदयपुर से आई है. जहां एक CID की फीमेल डॉग जिसका नाम मैरी था उसका उदयपुर से भरतपुर डिवीजन में ट्रांसफर हुआ तो विभाग ने शानदार तरीके से उसे विदा किया. सोशल मीडिया पर ये खबर वायरल हो रही है. 


सीआईडी की ​​खोजी फीमेल डॉग मैरी को हैंडल करने वाले सीआईडी कांस्टेबल मोहम्मद बिलाल ने बताया कि मैरी को विभाग ने बहुत ही शानदार फेयरवेल दिया है. मैरी सीआईडी में विस्फोटक खोजी फीमेल डॉग के रूप में कार्यरत हैं. उदयपुर डिवीजन में एक्सपोल्जिव एक्सपर्ट्स के अलावा मैरी एक शानदार डॉग थी.

नम हुई आंखें

CID कांस्टेबल और मैरी के हैंडलर मोहम्मद बिलाल ने बताया कि मैरी के जाने से उन्हें थोड़ा दुखा है. ये मेरी प्रिया डॉग रही है. इसे जो भी काम दिया जाता था उसे ये करती थी. चाहे इंसान के साथ इंसान हो या कुत्ता साथ रहने से उनकी यादे जुड़ी रहती हैं. आज ये जा रही तो एक ये दुख और खुशी दोनों का विषय है. लगाव और अलगाव मानवीय जीवन की क्रियाएं हैं. इन क्रियाओं को हमें निभाना ही पड़ता है.


मैरी की विदाई समारोह में विभाग में कार्यरत कर्मचारियों की आंखें नम हो  गईं.

जी-20 में निभाई अहम भूमिका

मैरी की उपलब्धियों के बारे में बताते हुए  मोहम्मद बिलाल ने बताया कि इसने उदयपुर में हुए हर एक बड़े कार्यक्रम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. जी 20 में भी मैरी ने अच्छा काम किया. VVIP,VIP तक को इन्होंने अपनी ड्यूटी दी है.

उन्होंने बताया कि मैरी को 2017 में राजस्थान पत्रिका की ओर से पुरस्कार भी मिल चुका है. एक्सपोलिजव एक्सपर्ट्स में ये अपने बैच की सर्वश्रेष्ट डॉग थी. इसने 8 साल तक उदयपुर जोन में अपनी सेवाएं दी है.