share--v1

हैकर्स के आगे Apple की निकली हवा, यूजर्स के साथ हो गया खेल!

Apple की सिक्योरिटी को लेकर कंपनी काफी दावे करती थी. लेकिन अब सभी कुछ गलत साबित होता नजर आ रहा है. एप्पल यूजर्स को सरकार द्वारा चेतावनी दी गई है. चलिए जानते हैं इसके बारे में. 

auth-image
Shilpa Srivastava
फॉलो करें:

Apple Security Issue: कहा जाता है कि Apple का इकोसिस्टम काफी मजबूत है और आसानी से इसे हैक नहीं किया जा सकता है. लेकिन पिछले कुछ समय में आई रिपोर्ट्स के अनुसार, कंपनी का यह दावा गलत साबित हो रहा है. बता दें कि भारत सरकार ने Apple यूजर्स को एक सिक्योरिटी इस्यू को लेकर सचेत किया है. इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम (CERT-In) ने अपने 31 जनवरी के बुलेटिन में इसे हाई रिस्क बताया है. 

सुरक्षा एजेंसी के अनुसार, Apple Watch, Apple TV, Macs, iPhone और iPad यूजर्स इससे प्रभावित होंगे. इसमें हैकर्स यूजर्स के डिवाइस को कहीं से भी रिमोटली एक्सेस कर सकते हैं. वह यूजर्स का डाटा चुराकर उनसे फिरौती की मांग करते हैं. सबसे पहले यह जानते हैं कि कौन-कौन सी डिवाइस इससे प्रभावित हैं. 

इन डिवाइसेज पर पड़ेगा Apple Security इश्यू का प्रभाव: 
CERT-In के अनुसार, जिन एप्पल डिवाइसेज में सिक्योरिटी इश्यू आ रहा है, उनकी लिस्ट नीचे हैं. 

  • 12.7.3 वर्जन से पहले के Apple macOS Monterey वर्जन

  • 13.6.4 वर्जन से पहले के Apple macOS Ventura वर्जन

  • 10.3 वर्जन से पहले के Apple watchOS वर्जन 

  • 16.7 वर्जन से पहले के Apple iOS वर्जन और 15.8.1 वर्जन से पहले के iPadOS वर्जन

  • 17.0.1 वर्जन से पहले के Apple iOS वर्जन और 16.7.5 वर्जन से पहले के iPadOS वर्जन

  • 17.3 वर्जन से पहले के Apple Safari वर्जन 

  • 17.3 वर्जन से पहले के Apple tvOS वर्जन 

कैसे चोरी हो रहा है यूजर्स का डाटा: 
CERT-In के अनुसार, ये सिक्योरिटी कमियां एप्पल के प्रोडक्ट्स में ही शामिल हैं जो हैकर्स को यूजर्स की सेंसिटिव जानकारी को एक्सेस करने, मैलवेयर कोड डिवाइस में पहुंचाने और सिक्योरिटी को बायपास करने की अनुमति देती है. एजेंसी ने कहा है कि Apple सिक्योरिटी इश्यू कई डिवाइसेज में पाया गया है. इसमें iPhone 6 सीरीज, iPad Air 2 समेत iPod Touch 7 जनरेशन मॉडल शामिल हैं. 

कैसे रहें सुरक्षित: 

  • आपको इस तरह की एक्टिविटीज से सुरक्षित रहने के लिए हमेशा अपनी डिवाइस को लेटेस्ट सॉफ्टवेयर पर अपडेट रखना चाहिए. इससे समय-समय पर बग्स को फिक्स किया जाता है.

  • बिना सोचे समझे किसी थर्ड पार्टी ऐप को डाउनलोड नहीं करना चाहिए. 

  • ज्यादा फीचर्स के चक्कर में आईफोन को कभी भी रूट नहीं करवाना चाहिए. 

Also Read

First Published : 03 February 2024, 10:58 AM IST