share--v1

UP News: उत्तर प्रदेश के इस गांव में मिले HIV पॉजिटिव, मरीजों की संख्या डरा देगी

UP News: उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद जिले में एक ही गांव में एक साथ HIV के कई मरीजों के मिलने से हड़कंप मचा हुआ है. एक साथ HIV पॉजिटिव मरीजों के मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग एक्शन में आ गया और गांव में स्वास्थ्य कैंप लगाकर अन्य लोगों के सेहत की जांच की.

auth-image
India Daily Live

UP News: उत्तर प्रदेश के एक गांव में HIV पॉजिटिव मरीजों की पहचान की गई है.  HIV के मरीजों के मिलने के बाद गांव में हड़कंप मच गया है. स्वास्थ्य विभाग की टीम भी गांव के अन्य लोगों के सेहत की जांच में जुटी है. मामला फर्रुखाबाद जिले के कमलागंज ब्लॉक का बताया जा रहा है.

एक साथ, एक ही गांव में HIV के मरीजों की पहचान के बाद स्वास्थ्य विभाग भी हैरान हो गया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, कमालगंज ब्लॉक के सामुदायिक केंद्र में इन मरीजों की पहचान हुई. HIV मरीजों की पहचान के बाद मुख्य चिकित्सा अधिकारी (CMO) ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण किया है.

बताया जा रहा है कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के MOIC ने HIV के 10 मरीजों के मिलने की पुष्टि की. उन्होंने बताया कि सभी 10 मरीज एक ही गांव के हैं. मामले की जानकारी के बाद गांव में हेल्थ कैंप लगाया गया है. गांव के लोगों के स्वास्थ्य की जांच की जा रही है.

क्या होती है HIV?

HIV यानी ह्यूमन इम्युनोडेफिशिएंसी वायरस. ये ऐसा वायरस है, जो मनुष्य के बॉडी में मौजूद इम्यून सिस्टम पर हमला करता है. अगर समय रहते HIV पॉजिटिव मरीज का इलाज नहीं होता है तो मरीज AIDS यानी इम्यूनोडिफीसिअन्सी सिंड्रोम का शिकार हो जाता है. फिलहाल, ये लाइलाज बीमारी है. 

मेडिकल एक्सपर्ट्स के मुताबिक, HIV वायरस सेंट्रल अफ्रीका में चिंपैंजी से फैला. चिंपैंजी वैरिएंट को सिमियन इम्युनोडेफिशिएंसी वायरस का नाम दिया गया है. आशंका जताई जाती है कि HIV चिंपैंजी से मनुष्यों में तब आया जब मानव, चिंपैंजी के संपर्क में आए होंगे. चिंपैंजी से मनुष्यों में HIV आने के बाद धीरे-धीरे ये पूरे अफ्रीका और बाद में दुनियाभर में फैल गया. 

क्या होते हैं HIV के लक्षण?

HIV संक्रमित मरीजों में 2 से 4 सप्ताह के भीतर फ्लू जैसे लक्षण दिखने लगते हैं. HIV के लक्षण कुछ दिनों या फिर कई हफ्तों तक रह सकता है. एक्सपर्ट्स के मुताबिक, कई अन्य बीमारियों के कारण भी आपको फ्लू हो सकता है. लिहाजा, जांच ज्यादा जरूरी है, जिसके बाद ही इसका पता चलता है. 

Also Read