menu-icon
India Daily
share--v1

गिरता, टूटता, धंसता बिहार! एक हफ्ते के अंदर गिरा तीसरा पुल

बिहार में पुल टूटने का सिलसिला जारी है. यहां एक हफ्ते के भीतर तीसरा पुल ढह गया है. इस बार ये घटना मोतिहारी में हुई है. यहां एक निर्माणाधीन पुल टूट गया. इस पुल की लागत दो करोड़ रुपये के करीब थी. इस पुल की लंबाई 50 फीट बताई जा रही है. इससे पहले अररिया और सीवान में भी पुल गिर चुके हैं.

auth-image
India Daily Live
 bridge collapsed, 50 feet bridge
Courtesy: Social Media

बरसात शरू होते ही बिहार में पुल टूटने का सिलसिला शुरू हो गया है. यहां एक हफ्ते के भीतर तीसरा पुल ढह गया है. इस बार ये घटना मोतिहारी में हुई है. यह एक निर्माणाधीन प्रोजेक्ट था, जिसकी अनुमानित लागत दो करोड़ रुपये के करीब थी. लोगों का कहना है कि बिना बारिश के पुल कमजोर होकर गिर गया. 

पुल गिरने की घटना पूर्वी चंपारण के मोतिहारी के घोड़ासहन ब्लॉक में चैनपुर स्टेशन के लिए पहुंच मार्ग पर हुई है. इस पुल की लंबाई 50 फीट बताई जा रही है. इससे पहले अररिया और सीवान में भी पुल गिर चुके हैं. बिहार के सीवान में भी कल पुल गिरने की घटना हुई थी. यहां महाराजगंज-दरोंदा विधानसभा के बॉर्डर को जोड़ने वाला पुल ताश के पत्ते की तरह ढेर हो गया था. बिहार में पुल गिरना आम सी बात हो गई है. 

गुणवत्ता पर उठे सवाल

बताया जा रहा है कि पुल की ढ़लाई के साथ ही ध्वस्त एक बड़ा हिस्सा भरभराकर गिर गया. इससे पुल निर्माण की गुणवत्ता पर कई तरह के सवाल उठने लगे हैं. इस आरसीसी पुल का निर्माण धीरेंद्र कंस्ट्रक्शन प्रा. लिमिटेड श्रीकृष्णनगर द्वारा कराया जा रहा था. पुल की ढ़लाई के साथ ही ध्वस्त एक बड़ा हिस्सा भरभराकर गिर गया. जिसपर ग्रामीणों की नजर रविवार की सुबह पड़ी. अब इसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर वायर हो रहा है.

सिवान में अचानक टूटा पुल

शनिवार को सिवान में एक पुल गिर गया. महराजगंज अनुमंडल के पटेढ़ा और गरौली गांव के बीच का पुल अचानक टूट गया. इससे दोनों गांव के बीच आवाजाही अवरुद्ध हो गया. इस पुल के टूटने से इलाके के लोग काफी परेशान हो गए हैं, क्योंकि यह पुल दोनों गाँवों के बीच का मुख्य संपर्क साधन था. लोगों का कहना है कि पुल को सही मानकों के साथ नहीं बनाया जा रहा था. पुल के पिलर कमजोर थे इसलिए पुल टूट गया. 

अररिया में गिरा पुल

इससे पहले 18 जून को अररिया में एक पुल गिर गया था. नदी में बना पुल अचानक गिर गया. करीब 12 करोड़ रूपये की लागत से बन रहे पुल के गिर जाने के बाद स्थानीय विधायक ने काम में अनियमितता का आरोप लगाया. विधायक ने पूरे मामले में भ्रष्टाचार के आरोप लगाये थे. पुल के गिरने से स्थानिय लोगों में गुस्सा है.