menu-icon
India Daily
share--v1

'मुझे तो अपनों ने लूटा, गैरों में कहां दम था', चौके-छक्के नहीं लगा पाने की मिली ऐसी 'सजा', बन गया अनचाहा रिकॉर्ड

Nikolaas Davin: टी20 विश्व कप 2024 में नामीबिया टीम के युवा ओपनर Nikolaas Davin सोशल मीडिया पर प्लेटफॉर्म एक्स पर 16 जून को सुबह से ही ट्रेंड करते रहे. इसके पीछे एक खास वजह है. टी20 विश्व कप में उनके नाम एक ऐसा रिकॉर्ड दर्ज हो गया है, जो 17 सालों के इतिहास में इससे पहले किसी खिलाड़ी ने अपने नाम नहीं किया था. जानिए आखिर क्या है वो रिकॉर्ड...

auth-image
Bhoopendra Rai
Nikolaas Davin
Courtesy: Twitter

Nikolaas Davin: 1995 में बॉलीवुड सुपरस्टार अजय देवगन की एक फिल्म आई थी 'दिलवाले', इस फिल्म एक डायलॉग बहुत ज्यादा फेसम हुआ था...ये डायलॉग था 'मुझे तो अपनों ने लूटा, गैरों में कहां दम था' मेरी कश्ती थी डूबा वहां जहां पानी कम था.' आज से सालों पहले उस फिल्म में बोला गया यह डॉयलाग आज टी20 विश्व कप 2024 में हिस्सा लेने वाली नामीबिया टीम के एक बल्लेबाज के साथ सच साबित हो गया. इस खिलाड़ी का नाम निकोलस डेविन है, जिसे विरोधी टीम तो आउट नहीं कर सकी, लेकिन उन्हें अपनी ही टीम ने क्रीज से वापस बुलाकर आउट करा दिया. चलिए जानते हैं आखिर क्या है ये पूरा मसला.

16 जून को इंग्लैंड और नामीबिया के बीच टी20 विश्व कप 2024 का 34वां मैच हुआ, जिसमें इंग्लैंड ने जीत हासिल की. इस मुकाबले में नामीबिया के ओपनर निकोलस डेविन ने अपने नाम एक अजीबोगरीब रिकॉर्ड दर्ज करा लिया है. ये खिलाड़ी टी20 वर्ल्ड कप के इतिहास में रिटायर्ड आउट होने वाला पहला बल्लेबाज बन गया है. ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि कि जब नामीबिया टीम को चौके-छक्कों की दरकार थी तब निकोलस गेंदें खाए जा रहे थे, लिहाजा उन्हें अपनी ही टीम ने रिटायर्ड आउट करा दिया. इत तरह उन्हें विरोधी तो आउट नहीं कर पाए, लेकिन अपनी ही टीम ने आउट करा दिया. 

मैच का हाल

इंग्लैंड और नामीबिया के बीच बारिश के चलते 10-10 ओवर्स का मैच खेला गया, जिसमें इंग्लैंड ने  पहले बल्लेबाजी करते हुए 5 विकेट के नुकसान पर 122 रन बनाए था, जवाब में नामीबिया की टीम 10 ओवर्स में 3 विकेट के नुकसान पर 84 रन ही बना सकी. इंग्लिश टीम ने DLS मेथड के चलते 41 रन से जीत हासिल की.

क्यों वापस बुला लिया गया था?

नामीबिया को एक तेज शुरुआती की दरकार थी, क्योंकि 10 ओवरों में 123 रन बनाने थे, मतलब हर ओवर में 12 से ज्यादा का जरूरी नेट रन रेट था, लेकिन ओपनिंग करने उतरे निकोलस डेविन 16 गेंदों में सिर्फ 18 रन ही बना सके. इस वक्त टीम को छक्कों की जरूरत थी, लेकिन डेविन का बल्ला खामोश था. उन्होंने 18 रन की पारी में सिर्फ 2 चौके लगाए.  आखिरकार टीम ने उन्हें छठे ओवर के अंत में  वापस बुला लिया. उनकी जगह डेविड वीजे को भेजा गया, जिन्होंने 12 गेंदों पर 27 रन ठोके, लेकिन वो जीत नहीं दिला पाए. क्योंकि मैच महज 10 ओवर का था.



ऐसा पहली बार हुआ

टी20 विश्व कप के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब कोई बल्लेबाज रिटायर्ड आउट हुआ, इसके शिकार निकोलस डेविन बने. निकोलस डेविन अभी 26 साल के हैं. वे नामीबिया के लिए 36 टी20 में  919 रन बना चुके हैं, जिनमें 5 फिफ्टी भी शामिल हैं.