menu-icon
India Daily
share--v1

दुनिया में जापान की शान रहा हवाई अड्डा अब डूबने की कगार पर, क्या अरबों डॉलर होंगे बर्बाद!

Japan Kansai International Airport: जापान ने अरबों डॉलर खर्च करके एक एयरपोर्ट तैयार किया. पर्यावरण जानकारों का मानना है कि अगले कुछ सालों में दुनिया में जापान की शान रहा यह एयरपोर्ट डूब जाएगा.

auth-image
Shubhank Agnihotri
Kansai airport

हाइलाइट्स

  • जापानी लोगों की आवाजाही का प्रमुख केंद्र 
  • सात सालों में पूरा हुआ था निर्माण 

Japan Kansai International Airport: जापान ने अरबों डॉलर खर्च करके एक एयरपोर्ट तैयार किया. इसका नाम है कानसाई इंटरनेशनल एयरपोर्ट. जापान के ग्रेटर ओसाका इलाके में स्थित यह एयरपोर्ट कृत्रिम द्वीप पर बनाया गया है. इस एयरपोर्ट को बनाने में जापान ने लगभग 20 अरब डॉलर खर्च किए. वह अब डूब रहा है. खबरों के मुताबिक, यह एयरपोर्ट अब इमारतों के बोझ तले दबता जा रहा है. 

जापान का सबसे व्यस्त हवाई अड्डा 

कानसाई इंटरनेशनल एयरपोर्ट का उद्घाटन 1994 में किया गया था. यह ओसाका को शेष दुनिया से जोड़ता है. 2016 में यह एशिया का 30वां सबसे व्यस्त और जापान का तीसरा सबसे बिजी हवाई अड्डा था. 

जापानी लोगों की आवाजाही का प्रमुख केंद्र 

पर्यावरण जानकारों का मानना है कि अगले कुछ सालों में दुनिया में जापान की शान रहा यह एयरपोर्ट डूब जाएगा. ओसाका के अतिरिक्त क्योटो और कोबे लोगों की आवाजाही का प्रमुख केंद्र रहा है. इसका रनवे लगभग 4000 मीटर लंबा है जो अधिकांश एयरपोर्ट की तुलना में करीब-करीब दोगुना है. द्वीप पर यह एयरपोर्ट समुद्र तट से करीब दो मील की दूरी पर मौजूद है. 

सात सालों में पूरा हुआ था निर्माण 

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इस हवाईअड्डे पर साल 1987 में काम शुरू हुआ था और सात सालों के बाद यह पूरा हुआ. अपने निर्माण के बाद से ही यह एयरपोर्ट एविएशन का बड़ा हब बन गया था. आपको बता दें कि इस एयरपोर्ट का निर्माण लाखों लीटर पानी निकालने के बाद किया गया था. इन्फ्रास्ट्रक्चर का यह शानदार नमूना अगले कुछ सालों में जल में डूब जाएगा. इसकी सुरक्षा के लिए हजारों पत्थर डाले गए थे.अब इसका प्रकृति के आगे बस नहीं चल रहा है और शानदार कारीगरी का नमूना अब डूबने की कगार पर है.