menu-icon
India Daily
share--v1

न्यूयॉर्क में यहूदी धर्मस्थल के बाहर हो बार फायरिंग, 'फिलिस्तीन को मुक्त करो' के लगाए नारे

अधिकारियों के अनुसार टेंपल इजराइल के बाहर गोलीबारी दोपहर करीब 2 बजे हुई, जिसके बाद 28 वर्षीय युवक को गिरफ्तार किया गया है. हालांकि अभी तक पुलिस ने आरोपी की पहचान नहीं की है

auth-image
Naresh Chaudhary
Israel Hamas War, New York New

हाइलाइट्स

  • फिलिस्तीनियों की मौत के कारण इजराइल की हो रही है काफी आलोचना
  • पुलिस के आने से पहले आरोपी ने छोड़ा हथियार, लगाए नारे

New York Jewish shrine Firing: इजराइल और हमास के बीच जंग जारी है. फिलिस्तीन के कब्जे वाले गाजा पट्टी पर इजराइल लगातार हमला कर रहा है. ऐसे में हजारों इजराइलियों की मौत के कारण दुनिया के कई देशों में इजराइल का विरोध हो रहा है. ताजा घटना न्यूयॉर्क से सामने आ रही है. यहां यहूदी धर्मस्थल के बाहर एक शख्स ने दो बार फायरिंग कर दी. हालांकि पुलिस बल ने उसे तत्काल गिरफ्तार कर दिया. गिरफ्तारी के दौरान उसने फ्री फिलिस्तीन के नारे लगाए.

फिलिस्तीनियों की मौत के कारण इजराइल की हो रही है काफी आलोचना

जानकारी के मुताबिक, राज्य की राजधानी अल्बानी में यह घटना दुनिया भर में यहूदी विरोध की बढ़ती आशंकाओं का एक ताजा उदाहरण है. हमले में फिलिस्तीनियों की मौत के कारण इजराइल को काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है.

अधिकारियों के अनुसार टेंपल इजराइल के बाहर गोलीबारी दोपहर करीब 2 बजे हुई, जिसके बाद 28 वर्षीय युवक को गिरफ्तार किया गया है. हालांकि अभी तक पुलिस ने आरोपी की पहचान नहीं की है, लेकिन गवर्नर कैथी होचुल ने कहा कि वह एक स्थानीय नागरिक है.

पुलिस के आने से पहले आरोपी ने छोड़ा हथियार, लगाए नारे

बताया गया है कि गोली चलने के करीब 10 मिनट बाद एक राहगीर ने मंदिर के पास बंदूकधारी से बात की. अल्बानी पुलिस प्रमुख एरिक हॉकिन्स ने घटनास्थल पर संवाददाताओं को बताया कि अधिकारियों के घटनास्थल पर पहुंचने और उसे हिरासत में लेने से पहले ही व्यक्ति ने बन्दूक गिरा दी थी.

हॉकिन्स ने कहा कि आरोपी फिलिस्तीन को मुक्त करो की बात कह रहा था. पुलिस प्रमुख ने कहा कि इस प्रकरण की जांच घृणा अपराध के रूप में की जा रही है. अभी तक ऐसा कोई संकेत नहीं मिला है कि इसमें और लोग भी शामिल थे. हालांकि सुरक्षा एजेंसियां मामले की जांच कर रही है.