share--v1

Israel Hamas War: सीजफायर के बाद गाजा में फिर गरजा इजरायल, दो दिन में 700 से ज्यादा की मौत 

Israel Hamas War: सीजफार समझौते के खत्म होने के बाद इजरायली डिफेंस फोर्स ने दो दिन के भीतर ही मिसाइल हमलों के जरिए गाजा में 700 लोगों को मौत के घाट उतार दिया.

auth-image
Shubhank Agnihotri
फॉलो करें:

हाइलाइट्स

  • शुक्रवार को खत्म हुआ था सीजफायर
  • गाजा की 75 फीसदी आबादी विस्थापित 

Israel Hamas War: इजरायल और हमास में सीजफायर के खत्म होने के बाद गाजा में फिर से मौत का तांडव शुरू हो गया है. सीजफार समझौते के खत्म होने के बाद इजरायली डिफेंस फोर्स ने दो दिन के भीतर ही मिसाइल हमलों के जरिए 700 लोगों को मौत की नींद सुला दिया.

रिपोर्ट के अनुसार, गाजा के किसी भी इलाके में रहना अब खतरों से खाली नहीं है. इजरायली सेना अब उत्तर और दक्षिण दोनों ओर से ताबड़तोड़ हमले कर रही है. 

शुक्रवार को खत्म हुआ था सीजफायर

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, इजरायल गाजा में मिसाइलों के जरिए अपने हमलों को अंजाम दे रहा है. कई इलाकों में उसकी सेना जमीनी कार्रवाई में हमास के ठिकानों को नष्ट करने में लगी है.

इजरायल के हमले में अब तक 15500 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. इनमें लगभग 300 सदस्य मेडिकल स्टाफ के हैं.

बीते दिनों इजरायल और हमास ने कैदियों और बंधकों की अदला-बदली के लिए एक समझौता किया था. यह समझौता सात दिनों तक चला जो शुक्रवार को समाप्त हो गया था. 


गाजा में अब कोई भी इलाका सुरक्षित नहीं- यूएन ह्यूमन राइट्स 

इस बीच यूएन ह्यूमन राइट्स कमीशन ने कहा कि गाजा में अब कोई भी ऐसा इलाका नहीं रह गया है जहां लोग अपना सिर छिपा सकें. संस्था ने कहा कि गाजा के जबालिया में एक छह मंजिला इमारत पर भी इजरायली सेना ने हमला किया है.

इस बिल्डिंग में बड़ी संख्या में लोग ठहरे हुए थे. रिपोर्ट के मुताबिक, इस बिल्डिंग पर हमले के दौरान बड़ी संख्या में लोगों की जान गई है. 


गाजा की 75 फीसदी आबादी विस्थापित 

यूएन के मुताबिक, गाजा की लगभग 75 फीसदी आबादी को इस युद्ध के कारण विस्थापित होना पड़ा है.

यह लोग बेहद खराब हालातों में अपना जीवन जीने को मजबूर हैं. आपको बता दें कि सीजफायर खत्म होने के बाद इजरायल ने हमास को जड़ से खत्म करने का आह्वान किया है.

इजरायली प्रधानमंत्री ने कहा है कि  हमास को खत्म करने के बाद ही दम लेंगे. बेंजामिन ने कहा कि हमास को नजरअंदाज करना अपने लिए भविष्य में खतरा पैदा करने जैसा है. 


 

Also Read

First Published : 04 December 2023, 11:56 PM IST