share--v1

North Korea News: नॉर्थ कोरियाई तानाशाह जोंग का नया फरमान- ज्यादा बच्चे पैदा करें महिलाएं 

North Korea News: सोमवार को माताओं की राष्ट्रीय बैठक के दौरान किम जोंग ने कहा कि बीते 10 सालों में देश में जन्म दर में बड़ी मात्रा में गिरावट देखी गई है.यह गिरावट देश की प्रगति में बड़ी बाधा बन कर सामने आ सकती है.  इससे निपटने के लिए हमें ज्यादा बच्चों को पैदा करना होगा.

auth-image
Shubhank Agnihotri

हाइलाइट्स

  • चौतरफा पाबंदियों से जूझ रहा है उत्तर कोरिया 
  • 1970 में शुरू किया था बर्थ कंट्रोल प्रोग्राम

North Korea News: उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन ने देश की महिलाओं से ज्यादा से ज्यादा बच्चों को पैदा करने की अपील की है. कोरियाई नेता ने सोमवार को कहा कि यह देश की मजबूती के लिए जरूरी कदम है कि लोग ज्यादा से ज्यादा बच्चे पैदा करें. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, उत्तर कोरिया इस समय सबसे कम जन्म दर का सामना कर रहा है. 

10 सालों में सबसे कम है जन्म दर 

सोमवार को माताओं की राष्ट्रीय बैठक के दौरान किम ने कहा कि बीते 10 सालों में देश में जन्म दर में बड़ी मात्रा में गिरावट देखी गई है. जन्म दर में गिरावट देश की प्रगति में बड़ी बाधा बन कर सामने आ सकती है.  इससे निपटने के लिए हमें ज्यादा बच्चों को पैदा करना होगा. उन्होंने कहा कि बच्चों की अच्छी शिक्षा और स्वास्थ्य देखभाल और लालन-पालन की जिम्मेदारी उत्तर कोरियाई सरकार उठाएगी. 


चौतरफा पाबंदियों से जूझ रहा है उत्तर कोरिया 

रिपोर्ट के अनुसार, उत्तर कोरिया दुनिया के सबसे गरीब देशों की सूची में शामिल है. दक्षिण कोरियाई सरकार ने अपने आंकलन में कहा कि नॉर्थ कोरिया पिछले दस सालों से लगातार जन्म दर में गिरावट का सामना कर रहा है. उत्तर कोरिया पहले से ही चौतरफा पाबंदियों से जूझ रहा है. उत्तर कोरिया में दलबदलू लोगों का इंटरव्यू करने वाले अहं क्यूंग-सु ने कहा कि उत्तर कोरियाई परिवार एक बच्चे की नीति पर केंद्रित हैं क्योंकि इससे अधिक बच्चे पैदा करने पर उनके लालन पालन के लिए परिवारों के पास सीमित संसाधन हैं. उन्होंने आगे कहा कि बीते 20 सालों में कोरियाई नाटकों और फिल्मों ने संभवत: महिलाओं को ज्यादा बच्चे पैदा न करने के लिए प्रेरित किया है.


1970 में शुरू किया था बर्थ कंट्रोल प्रोग्राम

उत्तर कोरिया ने 1970 में जनसंख्या वृद्धि को कम करने के लिए बर्थ कंट्रोल प्रोग्राम स्टार्ट किया था. रिपोर्ट के अनुसार, इसके लागू होने के बाद 1990 के दशक में कोरियाई अकाल के बाद देश की प्रजनन दर में बड़ी गिरावट देखी गई. इस अकाल में हजारों लोगों की मौत हो गई थी. स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, तीन या तीन से ज्यादा बच्चों को पैदा करने वाले परिवारों को तमाम सुविधाएं मुहैया कराने का एलान किया है. 


 

Also Read

First Published : 04 December 2023, 11:24 PM IST