menu-icon
India Daily
share--v1

भारतीय मूल के समीर शाह हो सकते हैं BBC के नए अध्यक्ष, सुनक सरकार जल्द कर सकती है ऐलान

ब्रिटेन सरकार ने भारतीय मूल के मीडिया दिग्गज डॉ. समीर शाह को ब्रिटिश ब्रॉडकास्ट कॉरपोरेशन (BBC) के नए अध्यक्ष की उम्मीदवारी के लिए चुना है.

auth-image
Antriksh Singh
डॉ. समीर शाह

हाइलाइट्स

  • ब्रिटिश सरकार ने डॉ. समीर शाह को बीबीसी के नए अध्यक्ष की उम्मीदवारी के लिए चुना
  • डॉ. समीर शाह को है 40 साल का एक्सपीरियंस

ब्रिटेन सरकार ने भारतीय मूल के डॉ. समीर शाह का नाम बीबीसी के नए प्रमुख के लिए तय किया है. डॉ. शाह ने 40 साल से अधिक समय प्रसारण के क्षेत्र में दे चुके हैं. भारतीय मूल के मीडिया कार्यकारी डॉ. समीर शाह  को ऋषि सुनक सरकार  ने पद संभालने के लिए पसंदीदा उम्मीदवार घोषित किया है.

2019 में 71 साल के समीर शाह को टेलीविजन और विरासत की सेवाओं के लिए महारानी एलिजाबेथ द्वितीय द्वारा सीबीई से सम्मानित किया गया था. शाह रिचर्ड शार्प की जगह लेंगे जिन्हें पूर्व प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के साथ बातचीत लीक होने और मामले में जांच बैठाए जाने के बाद उनको इस्तीफा देना पड़ा था.

डॉ. शाह के पास है काफी अनुभव

 यूके की संस्कृति सचिव लुसी फ्रेजर ने बुधवार को नियुक्ति प्रक्रिया की पुष्टी करते हुए कहा, 'टीवी प्रोडक्शन और पत्रकारिता में 40 से अधिक के करियर वाले डॉ. शाह के पास बीबीसी अध्यक्ष के पद पर काबिज होने के सभी अनुभव हैं.' उन्होंने कहा, 'तेजी से बदलते मीडिया परिदृश्य में बीबीसी को सफल बनाने के लिए उनकी महत्वाकांक्षा बिल्कुल स्पष्ट है और इसमें कोई संदेह नहीं है कि बीबीसी को भविष्य चुनौतियों से उबारने में अपना सर्वश्रेष्ठ योगदान देंगे.'

शाह ने कहा, 'इसमें कोई दो राय नहीं कि बीबीसी वैश्विक संस्कृति में हमारे सबसे अहम योगदानों में से एक है. मै अगर अपने कौशल, अनुभव और सार्वजनिक सेवा प्रसारण की समझ के दम पर इस संगठन को आने वाली विविध चुनौतियों के लिए तैयार कर पाया तो यह मेरे लिए सम्मान की बात होगी.'

कौन हैं शाह

शाह का जन्म औरंगाबाद में हुआ था वह 1960 में इंग्लैंड आए और इससे पहले बीबीसी में सामयिकी और राजनीतिक कार्यक्रमों के प्रमुख के रूप में काम किया था.  शाह ने 2007 से 2010 के बीच बीबीसी के गैर-कार्यकारी निदेशक के रूप में भी काम किया है. उन्होंने 2021 में सरकार की नस्लीय और जातीय असमानता आयोग की रिपोर्ट का सह-लेखन किया. शाह के चयन को बड़े बदलाव के तौर पर देखा जा रहा है.