menu-icon
India Daily
share--v1

Bangui Boat Tragedy: गांव के प्रधान के अंतिम संस्कार में जा रही नाव नदी में पलटी, 50 से अधिक लोगों की मौत, कई लापता

Bangui Boat Tragedy: गांव के प्रधान के निधन के बाद करीब 300 लोग नाव पर सवार होकर अंतिम संस्कार में जा रहे थे. इस दौरान नाव के पलटने से 50 से अधिक लोगों की डूबकर मौत हो गई, जबकि कई अन्य लापता हो गए. हादसा शुक्रवार का है, जबकि अधिकारियों ने इसकी जानकारी शनिवार को दी.

auth-image
India Daily Live
Bangui boat tragedy

Bangui Boat Tragedy: अंतिम संस्कार में जा रही नाव ओवरलोड होने के कारण नदी में पलट गई, जिससे 50 से अधिक लोगों की डूबकर मौत हो गई. हादसे के वक्त नाव पर करीब 300 लोग सवार थे. हादसे के बाद कई लोगों के लापता होने की खबर है. घटना मध्य अफ़्रीकी गणराज्य के बांगुई की बताई जा रही है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, नाव पर सवार लोग गांव के प्रधान की मौत के बाद उनके अंतिम संस्कार के लिए जा रहे थे. प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि लकड़ी की नाव के मपोको नदी में पलटने के बाद मछुआरों समेत स्थानीय बचावकर्मियों ने रेस्क्यू अभियान चलाया. अधिकारियों के मुताबिक, हादसे के बाद लापता लोगों की तलाश जारी है.

बेतरतीब तरीके से नाव पर सवार थे लोग

प्रत्यक्षदर्शियों और सोशल मीडिया पर मौजूद वीडियो के अनुसार, नाव लगभग 300 लोगों को ले जा रही थी, जो बनगुई से लगभग 45 किलोमीटर दूर ग्राम प्रधान के अंतिम संस्कार में शामिल होने जा रहे थे. नाव में क्षमता से अधिक लोग सवार थे क्योंकि कुछ यात्री खड़े थे, जबकि अन्य नाव के ऊपरी हिस्से पर बैठे थे. 

रिपोर्ट्स के मुताबिक, नाव रवाना होने के तुरंत बाद पलट गई. हादसे के करीब 40 मिनट बाद रेस्क्यू टीम घटनास्थल पर पहुंची. हादसे के दौरान नदी के पास मौजूद दूसरे नाव चालकों और मछुआरों ने फौरन रेस्क्यू टीम को इसकी जानकारी दी. साथ ही उनका इंतजार किए बिना राहत बचाव कार्य शुरू कर दिया. बताया जा रहा है कि स्थानीय लोगों ने नदी से एक-एक कर कई शव निकाले.

अब तक नदी से 58 लोगों के शव निकाले

सिटीजन सिक्योरिटी डिपार्टमेंट के चीफ थॉमस जिमासे ने रेडियो गुइरा को बताया कि अब तक नदी से 58 शवों को निकाला जा चुका है. उन्होंने कहा कि हमें यह नहीं पता कि कितने लोग लापता है और कितने लोगों का रेस्क्यू किया गया है.

उधर, सरकार के प्रवक्ता मैक्सिम बलालौ ने घटना की जांच शुरू करने की बात कही है. साथ ही पीड़ित परिवारों की सहायता के लिए एक रिलीफ फंड बनाने की बात कही है. उन्होंने नदी में नाव चलाने वाले लोगों से अधिक से अधिक सुरक्षा बरतने की अपील की.