share--v1

China Taiwan Dispute: कनाडा, अमेरिका के बाद चीनी गुब्बारे ने पार की ताइवानी सीमा, बढ़ी टेंशन

China Taiwan Dispute: ताइवानी रक्षा मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि ताइवान के राष्ट्रपति चुनाव से एक माह पहले गुरुवार को एक चीनी बैलून ताइवानी जलडमरूमध्य की रेखा को पार कर गया. 

auth-image
Shubhank Agnihotri

हाइलाइट्स

  • एक घंटे तक ताइवानी सीमा में उड़ता रहा 
  • सात चीनी विमानों ने किया था सीमा में प्रवेश 

China Taiwan Dispute: चीन अपनी हरकतों को लेकर फिर खबरों में है. दरअसल चीनी गुब्बारे ने ताइवान स्ट्रेट की मध्य रेखा को पार किया है. ताइवानी रक्षा मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि ताइवान के राष्ट्रपति चुनाव से एक माह पहले गुरुवार को एक चीनी बैलून ताइवानी जलडमरूमध्य की रेखा को पार कर गया. 


एक घंटे तक ताइवानी सीमा में उड़ता रहा 

ताइवानी रक्षा मंत्री चिउ कुओ-चेंग से संसद में संवाददाताओं से कहा कि हमारी प्रारंभिक जानकारी है कि यह बैलून बज रहा था. रक्षा मंत्रालय ने कहा कि बैलून नॉर्थ ताइवान के शहर कीलुंग के दक्षिण-पश्चिम में 101 समुद्री मील की दूरी पर देखा गया. रक्षा मंत्रालय ने कहा कि गायब होने से पहले उसने लगभग एक घंटे की पूर्व की ओर यात्रा की.

सात चीनी विमानों ने किया था सीमा में प्रवेश 


ताइवानी रक्षा मंत्रालय के अनुसार, बैलून ने जिग-जैग तरीके से ताइवानी सीमा में अपना रास्ता तय किया. एक दिन पहले ही मंत्रालय ने कहा था कि उन्होंने शाम को सात चीनी विमानों को ताइवानी मध्य रेखा को पार करते देखा गया था. चीन आए दिन इस प्रकार की हरकतें करता रहता है. जिस कारण दोनों के बीच लगातार तनाव की स्थिति बनी रहती है.


दोनों के बीच क्या है विवाद? 

चीन का दावा है कि ताइवान उसी का एक हिस्सा है.  वहीं, ताइवान खुद को एक आजाद संप्रभु देश मानता है, जिसका अपना संविधान है और वहां के लोगों की चुनी हुई सरकार वहां शासन करती है. आपको बता दें कि ताइवान में अगले साल राष्ट्रपति चुनाव होने वाले हैं और इसके लिए अभी से ही तैयारियां शुरू हो गई हैं. ताइवान में 13 जनवरी, 2024 को वोटिंग होगी, जिसके लिए उम्मीदवारों ने अपना नामांकन कर दिया है.

Also Read