share--v1

भारतीय नौसेना ने बचाई पाकिस्तानियों की जान, समुद्री लुटेरों ने टेक दिए घुटने

Indian Navy News: भारतीय नौसेना द्वारा चलाए गए समुद्री डाकुओं के खिलाफ अभियान में पाकिस्तान के 23 नागरिकों की जान बचा ली गई है साथ ही डाकुओं को आत्मसमर्पण करने के लिए भी मजबूर कर दिया है.

auth-image
India Daily Live

Indian Navy News: भारतीय नौसेना ने शनिवार तड़के नौ समुद्री लुटेरों को आत्मसमर्पण करने के लिए मजबूर किया और ईरानी मछली पकड़ने वाले जहाज पर सवार 23 पाकिस्तानी चालक दल के सदस्यों को बचा लिया. रक्षा अधिकारियों ने कहा कि नौ समुद्री लुटेरों को समुद्री समुद्री डकैती रोधी अधिनियम 2022 के अनुसार आगे की कानूनी कार्रवाई के लिए भारत लाया जा रहा है. इस दौरान बचाे गए पाकिस्तानी नागरिकों ने भारत जिंदाबाद के नारे लगाए. 

रिपोर्ट के अनुसार, नौसेना के अधिकारियों को शुक्रवार को संभावित समुद्री डकैती की घटना के बारे में जानकारी मिली थी.  इसके बाद अरब सागर में दो जहाजों को तैनात किया गया और यमन के सोकोट्रा तट के पास एक अपहृत ईरानी मछली पकड़ने वाले जहाज को रोक दिया गया. अधिकारियों ने कहा कि घटना के समय मछली पकड़ने वाला जहाज सोकोट्रा तट से लगभग 90 समुद्री मील दक्षिण पश्चिम में था. नौ समुद्री डाकुओं द्वारा इस जहाज का अपहरण किया गया था.

 

एक रक्षा प्रवक्ता ने कहा कि आईएनएस सुमेधा और आईएनएस त्रिशूल ने 29 मार्च 24 के शुरुआती घंटों के दौरान एफवी अल-कंबर जहाज को रोकने में सफलता हासिल की. 12 घंटे से ज्यादा समय तक चले ऑपरेशन के बाद समुद्री लुटेरों को आत्मसमर्पण के लिए मजबूर होना पड़ा.  जहाज पर चालक दल में 23 पाकिस्तानी नागरिक शामिल थे जिन्हें सुरक्षित बचा लिया गया. 

भारतीय नौसेना ने हाल ही में सोमालिया के लगभग 260 नॉटिकल मील पूर्व में एक व्यापारिक जहाज, एमवी रुएन को समुद्री लुटेरों से मुक्त कराया था जिस पर चालक दल के 17 सदस्य सवार थे.  नौसेना ने इस दौरान 35 समुद्री लुटेरों को भी पकड़ा था