share--v1

Shiv Sena MLA Vote Remark: 'आपके माता-पिता मुझे वोट नहीं देते, तो खाना मत खाना', स्कूली बच्चों से बोले शिव सेना विधायक

शिव सेना विधायक के बयान से नाराज कांग्रेस के विपक्ष के नेता विजय वडेट्टीवार ने कहा कि चुनाव आयोग के राजनीतिक प्रचार या किसी भी चुनाव संबंधी कार्यों के लिए बच्चों का उपयोग न करने के आदेश के बावजूद, सत्तारूढ़ पार्टी के विधायक प्रचार के लिए एक स्कूल में जाकर ऐसा कर रहे हैं.

auth-image
Om Pratap
फॉलो करें:

Shiv Sena MLA Vote Remark: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ गुट वाले शिव सेना के विधायक संतोष बांगर का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है. वीडियो में संतोष बांगर स्कूली बच्चों के बीच दिख रहे हैं. वे स्कूल बच्चों से कहते नजर आ रहे हैं कि अगर आपके माता-पिता मुझे वोट नहीं देते हैं तो आपलोग दो दिनों तक खाना मत खाना. वायरल वीडियो हिंगोली जिले के जिला परिषद स्कूल का बताया जा रहा है. संतोष बांगर कलामनुरी से एकनाथ गुट वाली शिव सेना के विधायक हैं. 

वायरल वीडियो में बांगर मराठी में कहते हुए सुना जा सकता है कि अगर आपके माता-पिता अगले चुनाव में मुझे वोट नहीं देते हैं, तो दो दिनों तक खाना मत खानाय. बांगर ने बच्चों से भी कहलवाया कि वे घर जाकर अपने माता पिता से कहेंगे कि अगले चुनाव में किसे वोट देना है और किसे नहीं. विधायक ने बच्चों से ये भी कहा कि अगर उनके माता-पिता खाने से इनकार करने पर सवाल उठाते हैं, तो उन्हें कहना चाहिए कि संतोष बांगर को वोट दें, तभी हम खाएंगे.

चुनाव आयोग ने हाल ही में दिया है सख्त निर्देश

चुनाव आयोग की ओर से हाल ही में चुनाव संबंधी गतिविधियों में बच्चों के इस्तेमाल के खिलाफ कड़े निर्देश जारी किए गए हैं. चुनाव आयोग के निर्देश जारी करने के बाद विधायक का ये बयान सामने आया है. चुनाव आयोग ने अपने निर्देश में कहा था कि वोट के लिए राजनीतिक प्रचार में बच्चों का इस्तेमाल करना प्रतिबंधित है और ये बाल श्रम (निषेध और विनियमन) अधिनियम 1986 के कुछ प्रावधानों का उल्लंघन है.

एकनाथ गुट वाले शिव सेना के विधायक संतोष बांगर अपने चौंकाने वाली टिप्पणियों और कामों के लिए जाने जाते हैं. वे पहले भी विवादित बयान दे चुके हैं. पिछले महीने उन्होंने कहा था कि अगर 2024 के लोकसभा चुनाव के बाद नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री के रूप में वापस नहीं आए तो वे फांसी लगा लेंगे.

विपक्ष ने नेता पर साधा निशाना

बांगर के वोट वाले बयान के बाद कांग्रेस और शरद पवार के नेतृत्व वाली राकांपा के नेताओं को उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. एनसीपी-एसपी के प्रवक्ता क्लाइड क्रैस्टो ने कहा कि विधायक ने स्कूली बच्चों को जो बताया वह चुनाव आयोग के निर्देश के खिलाफ है, इसलिए उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए. वे आदतन अपराधी हैं, लेकिन भाजपा के सहयोगी होने के कारण बच जाते हैं. आयोग को बिना किसी पूर्वाग्रह के उनके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए. 

कांग्रेस नेता विजय वडेट्टीवार ने चुनाव आयोग से बांगर के खिलाफ कार्रवाई की मांग की और आश्चर्य जताया कि क्या राज्य के शिक्षा मंत्री उस समय सो रहे थे जब उनकी पार्टी का एक विधायक स्कूली बच्चों पर ऐसी टिप्पणी कर रहा था.

 

Also Read

First Published : 11 February 2024, 02:47 PM IST