share--v1

Bengaluru Murder: प्रेमिका ने ठुकराया शादी का प्रस्ताव, शख्स ने सरेआम 15 बार चाकू मारकर कर दी हत्या

Bengaluru Murder: कर्नाटक के बेंगलुरु से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है जहां एक 32 वर्षीय शख्स ने शादी करने से मना करने पर  कथित तौर पर सरेआम अपनी गर्लफ्रेंड पर 15 बार चाकू से हमला कर उसकी हत्या कर दी.

auth-image
India Daily Live

Bengaluru Murder: कर्नाटक के बेंगलुरु से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है जहां एक 32 वर्षीय शख्स ने शादी करने से मना करने पर  कथित तौर पर सरेआम अपनी गर्लफ्रेंड पर 15 बार चाकू से हमला कर उसकी हत्या कर दी. इसके बाद आरोपी पुलिस स्टेशन पहुंचा और अपना जुर्म कबूल कर लिया. यह पूरा मामला शनिवार का बताया जा रहा है.

पुलिस ने बताया कि आरोपी का नाम गिरीश एनएल उर्फ रेहान अहमद है जिसने फरीदा खातून (42) की जयनगर वी ब्लॉक के शालिनी मैदान में इस खूनी खेल को अंजाम दिया. डीसीपी (दक्षिण) शिवप्रकाश देवराजू ने बताया कि खातून की दो बेटियां थी जिसमें से एक 21 और दूसरी 16 साल की थी. गिरीश को कोर्ट में पेश किया गया और आगे की जांच के लिए उसे हिरासत में ले लिया गया है.

चश्मदीदों के बयान ले रही पुलिस

डीसीपी देवराजू ने कहा कि हम घटना के चश्मदीद कुछ लोगों के बयान ले रहे हैं. चश्मदीदों में एक नारियल बेचने वाला भी शामिल है.

स्पा में हुई थी दोनों की पहली मुलाकात

पुलिस ने बताया कि खातून कोलकाता की रहने वाली थी और पिछले 4 सालों से शहर में एक यूनीसेक्स स्पा में काम करती थी. वहीं स्पेयर कार ड्राइवर के रूप में काम करने वाले गिरीश की खातून से मुलाकात 2022 में दक्षिण बेंगलुरु के एक स्पा में हुई थी. वहीं से दोनों के बीच नजदीकियां बढ़ीं.

6 मार्च को खातून अपने होम टाउन चली गई थी और 28 मार्च को अपनी एक बेटी के साथ वापस लौटी थी. 28 मार्च को ही गिरीश का जन्मदिन था. खातून जयनगर के एक ओयो होटल रूम में अपनी बेटी के साथ ठहरी थी, बाद में गिरीश भी वहां आ गया. थोड़ी देर बार वह उन्हें शॉपिंग कराने ले गया. कमरे पर वापस आने से पहले उन्होंने खाना भी खाया. एक घंटे के बाद दोनों होटल  से चले गए.

इसके बाद वे मैदान में गए. इसी बीच गिरीश एक दुकान से चाकू खरीदकर ले आया. टहलते हुए वे शालिनी मैदान पहुंचे जहां गिरीश ने शालिनी को प्रपोज कर दिया. खातून के शादी से मना करने पर गिरीश को क्रोध आ गया और उसने उस पर चाकू से हमला कर दिया. शाम 7 से 7.30 बजे के बीच उसकी मौत हो गई.

घटना के चश्मदीद एक नारियल बेचने वाले ने तुरंत पुलिस को फोन किया. सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने जाकर देखा तो वहां खातून का शव पड़ा हुआ था जबकि गिरीश वहां से फरार हो चुका था. रात करीब 8.30 पर गिरीश पुलिस स्टेशन पहुंचा और खुद को पुलिस के हवाले कर दिया.

पुलिस ने बताया कि वह अभी भी हत्या में इस्तेमाल हुए चाकू को तलाश रहे हैं. गिरफ्तारी से पहले गिरीश ने चाकू को फेंक दिया था.  गिरीश ने पुलिस को बताया कि वह खातून से काम छोड़कर उससे शादी करने की कह रहा था  लेकिन उसने मना कर दिया. 

गिरीश ने अपना लिया था मुस्लिम धर्म
सूत्रों से पता चला कि गिरीश जन्मजात हिंदू है लेकिन उसकी शिक्षा एक मुस्लिम संगठन के स्कूल में हुई जिससे प्रभावित होकर उसने 2011 में मुस्लिम धर्म अपना लिया और अपना नाम रेहान अहमद रख लिया. 2016 में उसने अपना नाम फिर से बदलकर गिरीश रख लिया था क्योंकि उसकी बहन के लिए लड़का मिलना मुश्किल हो रहा था लेकिन वह अपना धर्म नहीं बदल सका था.

Also Read