share--v1

दोस्तों संग ठहाके, फिर लटकी मिली लाश; मोबाइल खोलेगा दिल्ली MBBS छात्रा की मौत का राज

दिल्ली पुलिस को एमबीबीएस छात्रा के कमरे से कोई भी सुसाइड नोट नहीं मिला है. फोरेंसिक टीम ने भी उसके कमरे की बारीकी से जांच की है. जांच में सामने आया है कि वह पढ़ाई के कारण हॉस्टल में शिफ्ट हुई थी.

auth-image
Naresh Chaudhary
फॉलो करें:

MBBS student Suicide: दिल्ली का मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज में सोमवार आधी रात के बाद अचानक हड़कंप मच गया. गर्ल्स हॉस्टल के कमरा नंबर 105 से चीखपुकार की आवाजें आने लगीं. कारण था कमरे में फंदे से लटका एक एमबीबीएस छात्रा का शव. जैसे ही खबर फैली वैसे ही कॉलेज के अधिकारी और दिल्ली पुलिस की टीम मौके पर पहुंची. छात्रा के शव को उतारा गया और पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया. छात्रा के परिवार वालों को भी इस मामले की जानकारी दी गई. रोते बिलखते परिवार के लोग कॉलेज पहुंचे. छात्रा से जुड़े सभी लोगों से पुलिस ने पूछताछ की, लेकिन आत्महत्या के कारणों का पता नहीं लगा है. अब दिल्ली पुलिस की टीम ने छात्रा के फोन को अपने कब्जे में लिया है. अधिकारियों का कहना है कि अब मोबाइल फोन की जांच से ही आत्महत्या के कारणों का पता चलेगा. 

मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज में सोमवार को आधी रात के बाद करीब 1.30 बजे 23 साल की एमबीबीएस अंतिम वर्ष की छात्रा पूजा ने अपने हॉस्टल के कमरे में कथित तौर पर आत्महत्या कर ली. पूजा दिल्ली के ही द्वारका के सेक्टर 9 की रहने वाली थी. फाइनल ईयर की पढ़ाई के कारण वह इसी साल हॉस्टल में शिफ्ट हुई थी. दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया है कि टीम मौके पर पहुंची और कमरे का दरवाजा तोड़ा तो शव पंखे से लटका हुआ मिला. फोरेंसिक टीमों ने घटनास्थल का बारीकी से निरीक्षण किया है. 

सोमवार को ही माता-पिता के घर से लौटी थी पूजा

अधिकारियों का कहना है कि मौके से उन्हें कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है. पुलिस ने बताया कि आत्महत्या के संभावित कारण का पता लगाने के लिए पूजा के दोस्तों और परिवार से पूछताछ की गई है, लेकिन कोई सटीक जवाब नहीं मिला है. पुलिस अधिकारी ने बताया है कि घटना से एक दिन पहले पूजा द्वारका स्थित अपने घर से हॉस्टल लौटी थी. पूजा के दोस्तों ने बताया है कि वह काफी समय से अपने कमरे से बाहर नहीं आई थी. किसी ने दरवाजा खटखटाया तो अंदर से कोई आवाज भी नहीं आया. इसके बाद कॉलेज प्रबंधन को मामले की जानकारी दी गई. 

अपनी दोस्तों के लिए लाई थी घर से बना खाना, साथ में खाया

जांच में सामने आया है कि पूजा वर्तमान में लोक नायक अस्पताल के सर्जरी विभाग में तैनात थी. एमएएमसी के छात्रावास में रह रही थी. पूजा की एक दोस्त ने कहा कि अपने माता-पिता के घर से लौटने के बाद वह अपने सभी दोस्तों के लिए घर का बना खाना लेकर आई थी. सभी ने एक साथ खाना भी खाया था. काफी देर तक सभी दोस्त साथ बैठकर हंसी मजाक भी करते रहे थे. इसके बाद करीब 12.30 वह अपने कमरे में चली गई. पूजा की एक दोस्त ने कहा कि आज भी उसके चेहरे पर हमेशा की तरह मुस्कान थी. 

दिल्ली पुलिस ने एमबीबीएस की छात्रा पूजा के कमरे की बारीकी से तलाशी ली है. अधिकारियों का कहना है कि कमरे से कोई भी नोट नहीं मिला है, इसलिए पुलिस ने छात्रा का मोबाइल फोन अपने कब्जे में लिया है. फोन की फोरेंसिक जांच कराई जाएगी. इसके बाद ही आत्महत्या के सही कारणों की जानकारी सामने आएगी. 

Also Read

First Published : 06 February 2024, 02:18 PM IST