menu-icon
India Daily
share--v1

नेम, फेम और मनी दिलाता है रविवार का व्रत, जानिए क्या है इसके लाभ?

Ravivar Vrat: रविवार का दिन भगवान सूर्य को समर्पित होता है. इस व्रत रखने से व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं. इसके साथ ही इस दिन रखा जाने वाला व्रत सभी प्रकार के सुखों को प्रदान करता है. 

auth-image
India Daily Live
SUN
Courtesy: pexels

Ravivar Vrat: रविवार का दिन भगवान सूर्य का होता है. इस दिन सूर्यदेव का पूजन करने से जीवन की समस्त समस्याओं का अंत होता है. इसके साथ ही असीम सुखों की प्राप्ति होती है. ज्योतिष के अनुसार, सूर्य ग्रह पिता, अधिकारी आदि का नेतृत्व करते हैं. सूर्य ग्रहों के राजा होते हैं, इस कारण सूर्य का शुभ प्रभाव आपकी सारी मनोकामना पूरी करता है. रविवार के व्रत को रखने से सारे शारीरिक कष्टों से निजात मिलता है. इससके साथ ही असीम सुखों की प्राप्ति होती है. 

ज्योतिष में सूर्य की उपासना को काफी खास माना गया है. रविवार का व्रत जीवन के सभी सुखों को प्रदान करता है. इसके साथ ही सूर्यदेव की कृपा प्राप्त होती है. इस व्रत को तब ही सफल माना जाता है.जब इसका उद्यापन भी पूरे विधि-विधान से किया जाए. आइए जानते हैं कि रविवार का व्रत रखने के क्या लाभ होते हैं. 

रविवार का व्रत रखने से मिलते हैं ये लाभ 

  • रविवार का व्रत रखने से घर में सुख और समृद्धि आती है. इसके साथ ही शत्रुओं का नाश होता है. 
  • रविवार के व्रत को 1 से 12 वर्षों तक किया जा सकता है. व्रत छोड़ने के बाद इसका उद्यापन अवश्य करें. 
  • रविवार के व्रत को करने से कुंडली में सूर्य की स्थिति मजबूत होती है. 
  • रविवार का व्रत रखने से संतान सुख मिलता है. इसके साथ ही मोक्ष की भी प्राप्ति होती है. 
  • सूर्य ग्रह का अशुभ प्रभाव कम करने के लिए रविवार का व्रत रखा जा सकता है. 
  • इस व्रत को रखने से चर्म, नेत्र और कुष्ठ रोग दूर होता है. 
  • जीवन में यश, वैभव और सुख-समृद्धि पाने के लिए भी रविवार का व्रत रखा जाता है. 

Disclaimer : यहां दी गई सभी जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है.  theindiadaily.com  इन मान्यताओं और जानकारियों की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह ले लें.