menu-icon
India Daily
share--v1

Cyber Fraud: हो जाएं सावधान! इस तरह से सेकेंडों में आपका बैंक अकाउंट खाली कर सकते हैं साइबर ठग

Cyber Crime in India: डिजिटल इंडिया के इस दौर में अब आपराधी भी लोगों से डिजिटली फ्रॉड करने के अलग-अलग तरीके निकाल लिए हैं. आए दिन हम ऐसी खबरें सुनते हैं कि साइबर ठग चंद सेकेंड में लोगों के अकाउंट को साफ कर देते हैं. आइए जानते हैं साइबर फ्रॉड से कैसे बचा जा सकता है.

auth-image
Purushottam Kumar
Cyber Fraud: हो जाएं सावधान! इस तरह से सेकेंडों में आपका बैंक अकाउंट खाली कर सकते हैं साइबर ठग

नई दिल्ली: डिजिटल इंडिया के इस दौर में अब आपराधी भी लोगों से डिजिटली फ्रॉड करने के अलग-अलग तरीके निकाल लिए हैं. आए दिन हम ऐसी खबरें सुनते हैं कि साइबर ठग चंद सेकेंड में लोगों के अकाउंट को साफ कर देते हैं. लोगों से ठगी करने के लिए ठग नौकरी का ऑफर देने से लेकर कई चीजों की पेशकश करते हैं फिर और फिर ऑनलाइन पेमेंट करने का प्रस्ताव देते हैं और फिर आपको तरफ से जानकारी देते ही आप ठगी के शिकार हो जाते हैं. आइए जानते हैं साइबर फ्रॉड से कैसे बचा जा सकता है.

UPI रिफंड के जरिए ठगी
डिजिटल इंडिया के इस दौर में भुगतान के लिए सबसे ज्यादा  इस्तेमाल यूपीआई का होने लगा है. मौजूदा समय में हर तरफ भुगतान के लिए यूपीआई का इस्तेमाल किया जा रहा है.  ऐसे में साइबर अपराधी भी यूपीआई रिफंड का लालच देकर लोगों से ठगी करने की कोशिश करते हैं.

ये भी पढ़ें: Indian Railways: यात्रीगण सावधान! ट्रेन की टिकट होने के बाद भी भरना पड़ सकता है जुर्माना, जान लीजिए रेलवे का ये न‍ियम

ओटीपी के जरिए ठगी
ओटीपी के माध्यम से आज भी सबसे ज्यादा ठगी की घटनाएं सामने आती है. ऐसे में ओटीपी फ्रॉड से बचने के लिए आपको अपना ओटीपी किसी के साथ शेयर नहीं करना चाहिए.

फेक डिलीवरी के जरिए ठगी
ई-कॉमर्स प्‍लेटफॉर्म के माध्यम से साइबर अपराधी आपके लिए बेहतर ऑफर पेश करते हैं और फिर ओटीपी आदि के माध्यम से अन्य जानकारी इकट्ठा करते हैं. इसके बाद आपके अकाउंट में घुसपैठ किया जाता है. ऑनलाइन खरीदारी के दौरान ठगी से बचने के लिए कैश ऑन डिलीवरी माध्यम का उपयोग करें.

ये भी पढ़ें: RBI के फैसले के बाद जनता को मिली बड़ी राहत, इस बैंक ने सस्‍ता किया होम लोन, प्रोसेसिंग फीस में भी की कटौटी