menu-icon
India Daily
share--v1

RBI के फैसले के बाद जनता को मिली बड़ी राहत, इस बैंक ने सस्‍ता किया होम लोन, प्रोसेसिंग फीस में भी की कटौटी

Bank Of Maharashtra Loan: सरकारी बैंक की ओर से ग्राहकों को बड़ी राहत दी गई है. बैंक की ओर से होम लोन और कार लोन की ब्याज दर में कमी की गई है. बैंक की ओर से प्रोसेसिंग फीस में भी कटौती कर दी गई है.

auth-image
Purushottam Kumar
RBI के फैसले के बाद जनता को मिली बड़ी राहत, इस बैंक ने सस्‍ता किया होम लोन, प्रोसेसिंग फीस में भी की कटौटी

नई दिल्ली: सरकारी बैंक की ओर से ग्राहकों को बड़ी राहत दी गई है. बैंक की ओर से होम लोन और कार लोन की ब्याज दर में कमी की गई है. बैंक की ओर से प्रोसेसिंग फीस में भी कटौती कर दी गई है. भारतीय रिजर्व बैंक की तरफ से रेपो रेट में बदलाव नहीं किए जाने के फैसले के बैंक ऑफ महाराष्ट्र ने लोन की ब्याज दर में कटौती करने का ऐलान कर दिया है. शनिवार को बैंक की ओर से इस संदर्भ में जानकारी दी गई है.

बैंक की ओर से होम लोन और कार लोन में बीस बेसिस प्वाइंट तक की कमी करने का ऐलान किया गया है. बैंक द्वारा की गई इस कटौती के बाद होम लोन अब 8.50 फीसदी के ब्याज दर पर उपलब्ध होगा वहीं अगर हम कार लोन की बात करें को बैंक की ओर से की गई कटौती के बाद यह अब 8.70 फीसदी के ब्याज दर पर उपलब्ध होगा. बैंक ऑफ महाराष्ट्र की ओर से साझा की गई जानकारी के अनुसार यह नया रेट 14 अगस्त से प्रभावी होगा.

ये भी पढ़ें: Indian Railways: आगर आपकी भी ट्रेन छूट गई है या लेट हो गई है तो रेलवे से मिलेगा रिफंड! एक क्लिक में जाने पूरा प्रोसेस

प्रोसेसिंग फीस भी हुई कम
बैंक के तरफ से दी गई जानकारी में बताया गया है कि लोन लेने वालों को अब ब्याज के साथ-साथ प्रोसेसिंग फीस भी कम चुकानी पड़ेगी. बैंक ने आगे बताया है कि इसके चलते लोन  लेने वाले ग्राहकों की संख्या में भी इजाफा संभव है. बैंक ने यह भी बताया कि जिन ग्राहक का लोन पहले से चल रहा है उनकी किश्त कम होगी.

क्या है आरबीआई का फैसला
आपको बता दें, 8 से 10 अगस्त तक भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति की बैठक हुई थी. इस बैठक के बाद गवर्नर शक्तिकांत दास ने एक बड़ा फैसला सुनाया था. शक्तिकांत दास ने लगातार तीसरी बार रेपो रेट को स्थिर रखने की बात कही थी. गौरतलब है कि मौजूदा समय में आरबीआई का रेपो रेट 6.5 फीसदी पर स्थिर है. जानकारी के अनुसार केंद्रीय बैंक की ओर से यह फैसला देश में बढ़ती महंगाई समेत कई अन्य कारणों को देखते हुए लिया गया था. 

ये भी पढ़ें: Indian Railways: यात्रीगण सावधान! ट्रेन की टिकट होने के बाद भी भरना पड़ सकता है जुर्माना, जान लीजिए रेलवे का ये न‍ियम