share--v1

ऐसे ही डाउन नहीं हो जाते WhatsApp और Instagram, ये हैं 4 बड़े कारण

बुधवार को WhatsApp और Instagram डाउन हो गए थे. कुछ ही देर बाद ये ठीक भी हो गए थे. लेकिन क्या आप जानते हैं कि आखिर किन वजहों से ये सर्विसेज डाउन हो जाती हैं.

auth-image
India Daily Live

कुछ ही समय पहले WhatsApp, Facebook डाउन हो गए थे. अब एक बार फिर से WhatsApp और Instagram डाउन हो गए थे. कुछ देर की आउटेज के बाद यह फिर से काम करने लगे थे. इस दौरान लोगों को एरर मैसेज मिला था. न तो यूजर्स ऐप का इस्तेमाल कर पा रहे थे और न ही ब्राउजर वर्जन का. हालांकि, अब यह सर्विसेज रीस्टोर हो गई हैं. इन सब के बीच एक ख्याल जरूर आता है कि आखिर वो कौन-से कारण होते हैं जो WhatsApp और Instagram के डाउन होने के कारण होते हैं. अगर आपको इस बारे में नहीं पता है तो चलिए जानते हैं. 

मालवेयर अटैक: ये एक बड़ा कारण होता है. अगर किसी वेबसाइट पर मैलवेयर अटैक होते हैं तो वेबसाइट क्रैश हो सकती है. साइबर अटैकर्स इस बात पर नजर गढ़ाए रहते हैं कि वो कब वेबसाइट पर अटैक कर सकते हैं. रिपोर्ट्स की मानें तो हैकर्स हर सेकेंड एक बिलियन पासवर्ड का इस्तेमाल करते हैं लोगों का अकाउंट या वेबसाइट हैक करने की कोशिश करते हैं. जब इस तरह के अटैक किए जाते हैं तो काफी सारा फेस ट्रैफिक जनरेट होता है. इससे सर्वर पर ओवरलोड बढ़ जाता है जिसके चलते वेबसाइट क्रैश हो जाती है. 

डोमेन का एक्सपायर हो जाना: कई बार डोमेन के एक्सपायर होने से भी ऐसा हो सकता है. अगर इसे समय पर रिन्यू न कराया जाए तो यह एक्सपायर हो जाता है जिसके चलते आपको वेबसाइट पर मैसेज दिखाई देता है, This site can't be reached. 

ब्रोकन कोड: कई बार कोड ब्रोक होने से भी यह परेशानी आती है. कई बार टाइपो एरर हो जाती है और इसके चलते एरर आ जाता है. अगर वेबसाइट के कोड में किसी एक जगह भी कुछ गड़बड़ हो जाती है तो वेबसाइट डाउन होने में समय नहीं लगता है. 

ज्यादा ट्रैफिक: कई बार वेबसाइट पर बहुत ज्यादा ट्रैफिक आने के चलते भी ऐसा हो जाता है. अगर वेबसाइट पर ज्यादा ट्रैफिक आ जाए तो वेबसाइट क्रैश हो सकती है. हर वेबसाइट की एक बैंडविथ होती है या फिर डाटा ट्रांसफर की क्षमता होती है, अगर यह बैंडविथ या क्षमता ज्यादा हो जाए तो भी वेबसाइट क्रैश हो सकती है. 

Also Read