menu-icon
India Daily
share--v1

जानलेवा है AC, यहां जानें वो 5 कारण जो एसी को चुटकियों में ब्लास्ट कर देते हैं!

क्या आप जानते हैं कि एसी में ब्लास्ट होने की घटनाएं काफी बढ़ चुकी हैं? अगर आपने ख्याल नहीं रखा तो आपको भी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है. चलिए जानते हैं एसी ब्लास्ट होने के कारण और उसके सॉल्यूशन. 

auth-image
India Daily Live
AC Blast Causes & Solutions
Courtesy: Canva

AC Blast Causes & Solutions: AC के ब्लास्ट होने की खबरें आ रही हैं और लोगों को इससे जान-माल का नुकसान भी हो रहा मौसम इतना गर्म है कि इंसान तो क्या भी इसे बर्दाश्त नहीं कर पा रहा है. यही कारण है कि इससे AC में आग लगने का खतरा बना हुआ है. गर्मी का पारा बहुत ज्यादा चढ़ चुका है जिससे इस तरह की घटनाएं देखने को मिल रही हैं। 

एयर कंडीशनिंग सिस्टम ने गर्मियों में लोगों के जीवन को आसान बना दिया है। यह जितना सुविधाजनक है उतना ही खतरनाक भी है। यह बहुत ज्यादा हानि करा करा सकता है। ऐसे में अगर आप कुछ बातों का ख्याल रखें तो AC में आग लगने की घटना से बचा जा सकता है.  

कब करानी चाहिए सर्विसिंग:

AC की सर्विसिंग कब करानी चाहिए, यह जानना जरूरी है. बता दें कि जब AC 600 घंटे चल जाए उसके बाद एयर कंडीशनर को सर्विस जरूर कराना चाहिए. अगर आप दिन में 8 घंटे AC चलाते हैं तो करीब 75 दिन बाद इसकी सर्विसिंग करानी चाहिए. 

AC की फिटिंग:

जब भी एयर कंडीशनर खरीदें और उसकी फिटिंग कराएं तो आपको उसमें लग रहे सामान की क्वालिटी को ध्यान में रखकर ही लेना चाहिए. इसमें MCB, प्लग सॉकेट और केबल शामिल है. 

AC गैस: 

जब भी AC में गैस पड़वाएं तो हर गैस की अपनी कैपेसिटी होती है. R32, R22 या R410A में से जो गैस डलवाएं उसकी कैपेसिटी को जान लें. गलत गैस डालना काफी खतरनाक साबित हो सकता है. 

AC कंप्रेसर:

जब भी आप एयर कंडीशनर चलाएं तो आपको ध्यान रखना होगा जो 2 से 3 घंटे बाद इसे चलाने के बाद करीब 10 से 12 मिनट के लिए इसे बंद कर दें. खासतौर से तब जब तापमान 46 से 48 डिग्री के बीच हो. इससे कंप्रेसर हीट होने से बचाता है और इसके चलते आग लगने की परेशानी भी नहीं आती है. 

आउटर यूनिट:

जितनी जरूरी एसी इनडोर यूनिट है उतनी ही अच्छी आउटरडोर यूनिट है. ऐसे में इसका भी ख्याल रखना होगा. इस पर समय-समय पर पानी का छिड़काव करना बेहद जरूरी है.