share--v1

Data Backup Mistakes: डाटा बैकअप करते समय अगर नहीं रखा इन बातों का ख्याल तो हो जाएगा नुकसान

अगर आप अपने डाटा का बैकअप लेते हैं तो आपको इन बातों का ख्याल रखना बेहद जरूरी है. यहां हम आपको डाटा बैकअप लेते समय किन बातों का ख्याल रखना है, ये बता रहे हैं.

auth-image
India Daily Live

Data Backup Mistakes: डिजिटल युग में, हम सभी के डाटा की सिक्योरिटी बेहद जरूरी है. आज के समय में हमारे डाटा का सिक्योर रहना उतना ही जरूरी है जितना हमारे पास फोन रहना. 10 में से 1 कंप्यूटर वायरस का शिकार होता है. वहीं, हर दिन हर मिनट 113 फोन चोरी हो जाते हैं. अब जितना वायरस आएगा या जितने फोन चोरी होंगे उतना ही डाटा चोरी होने का खतरा रहेगा. ऐसे में उसे पहले से ही सुरक्षित रखना बेहद जरूरी हो जाता है. 

डाटा का बैकअप सही तरह से लिया जाना भी काफी अहम है. लेकिन कई बार लोग अपने डाटा का बैकअप लेते समय कुछ गलतियां कर बैठते हैं और डाटा चोरी होने का खतरा बढ़ जाता है. यहां हम आपको कुछ टिप्स के बारे में बता रहे हैं जिनके जरिए आपका डाटा हमेशा सुरक्षित रहेगा. 

रेग्यूलर बैकअप न लेना: अगर आपको रेग्यूलर बैकअप न लेने की आदत है तो आपको ये आदत छोड़ देनी चाहिए. वैसे तो डाटा का बैकअप भूलना एक आम बीमारी है. लेकिन चाहें कुछ भी हो आपको रेग्यूलर डाटा बैकअप लेना चाहिए. इससे डाटा सुरक्षित रहता है. 

सिंगल बैकअप डिवाइस: किसी भी दूसरे इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट की तरह एक बैकअप डिवाइस खराब हो सकता है. इसलिए पूरी तरह से एक स्टोरेज डिवाइस पर निर्भर रहना सही नहीं रहता है. अपने डाटा को हमेशा दो से तीन जगह बैकअप रखना ही समझदारी है. 

ऑफ-साइट बैकअप सॉल्यूशन को नजरअंदाज करना: हम में से कई लोग मानते हैं कि लोकल बैकअप फुलप्रूफ होता है और ऑफ-साइट बैकअप को नजरअंदाज कर देते हैं. यह हमारे डाटा को चोरी होने से बचाता है. अब बताते हैं कि ऑफ साइट डाटा स्टोरेज क्या होती है. ऑफसाइट डाटा स्टोरेज से वो होता है जिसमें डाटा स्टोरेज को फिजिकल तौर पर कंपनी या संस्था से दूर रखा जाता है. 

एन्क्रिप्शन है जरूरी: अनएन्क्रिप्टेड बैकअप डाटा पर हैकर्स की नजर रहती है. ऐसे डाटा को हैकर्स चुरा लेते हैं. ऐसे में डाटा का बैकअप एन्क्रिप्टेड रखना बेहद ही जरूरी हो जाता है. 

Also Read

First Published : 26 March 2024, 06:28 PM IST