menu-icon
India Daily
share--v1

'विराट-रोहित और सूर्या ने टीम इंडिया को कर दिया हैंडीकैप', T20 वर्ल्डकप के लिए ये क्या बोल गए पठान

बांग्लादेश के खिलाफ प्रैक्टिस मैच में रोहित शर्मा के फैसले ने चौंकाया यशस्वी जायसवाल को टीम में नहीं शामिल किया. यशस्वी जायसवाल को प्लेइंग इलेवन में नहीं शामिल किया गया.

auth-image
India Daily Live
ICC T20 WC
Courtesy: social media

टी20 वर्ल्ड कप में रोहित शर्मा सेना जीत के इरादे से गई है. अपने वॉर्ममैच में बांग्लादेश के खिलाफ बड़े आराम से जीत हासिल करने के बाद टीम इंडिया अब अपने पहले मैच की तैयारी में जुट गई है. प्रैक्टिस मैच में रोहित शर्मा के फैसले ने चौंकाया. यशस्वी जायसवाल को टीम में नहीं शामिल किया. रोहित के साथ संजु सैमसन ओपन करने आए. विराट कोहली लेट पहुंचने के कारण मैच नहीं खेले सके. हालांकि वे मैदान में मौजूद थे. 

कई पूर्व खिलाड़ी का मानना है कि टी20 वर्ल्ड कप में रोहित शर्मा के साथ विराट कोहली को ओपन करना चाहिए. इरफान पठान ने कहा कि कोहली को ओपन करना चाहिए. आईपीएल में विराट कोहली ने 741 रन बनाया. स्टार स्पोर्ट्स से बात करते हुए पठान ने जायसवाल को प्लेइंग इलेवन से बाहर नहीं किया जाने को लेकर बात की. पठान ने कहा कि 2023 वर्ल्ड कप के फाइनल में हारने के बाद राहुल द्रविड़ गेंदबाजी के ऑपशन को लेकर सेलेक्टर्स से बात की थी.  यशस्वी जयसवाल टीम के साथ जुड़ने के बाद से नेट्स में गेंदबाजी कर रहे हैं, वो आईपीएल में भी राजस्थान रॉयल्स के लिए नेट्स में नियमित गेंदबाजी करते हैं.

टीम कॉम्बिनेशन पर पठान ने उठाए सवाल

पठान ने कहा कि टीम के दो कॉम्बिनेशन हो सकते हैं. एक टीम में आप बल्लेबाजी को मजबूत कर सकते हैं. प्लेइंग इलेवन में बल्लेबाजी लाइनअप को मजबूत करने के लिए अक्षर पटेल सहित छह गेंदबाजों के साथ खेल सकते हैं. दूसरे संयोजन में, आप चार फ्रंट-लाइन गेंदबाजों के साथ खेल सकते हैं और शिवम दूबे और हार्दिक पांड्या से गेंदबाजी की उम्मीद कर सकते हैं. टीम इंडिया के लिए एक अन्य विकल्प एक युवा खिलाड़ी है जो नेट्स में गेंदबाजी करता है, लेकिन मैचों में गेंदबाजी नहीं की है, यशस्वी जायसवाल, शिवम दूबे ने आईपीएल के दौरान भी गेंजबाजी की है और वो वर्ल्ड कप में एक या दो ओवर करने को तैयार हैं. 

रोहित, विराट और सूर्यकुमार यादव ने टीम को किया 'अपंग'

इरफान पठान ने कहा कि अगर हार्दिक आपको तीन से चार ओवर गेंदबाजी करने का विकल्प दे सकते हैं, तो यह समस्या काफी हद तक हल हो जाएगी. हमारे अन्य बल्लेबाज, जैसे रोहित, विराट या सूर्यकुमार यादव, गेंदबाजी नहीं कर सकते हैं, जो हमें कुछ हद तक विकलांग बनाता है. अगर इनमें से कोई भी खिलाड़ी गेंदबाजी कर सकता है, तो इससे टीम को बहुत फायदा होगा. हम ऑस्ट्रेलिया के बारे में बात करते हैं, लेकिन इंग्लैंड के पास भी अपने शीर्ष सात खिलाड़ियों में कई ऑलराउंडर हैं, जिनमें मोइन अली, लियाम लिविंगस्टोन और विल जैक्स शामिल हैं. अधिक गेंदबाजी विकल्प होना हमेशा बेहतर होता है. 

संजय मांजरेकर की राय

पैनल का हिस्सा रहे पूर्व भारतीय क्रिकेटर संजय मांजरेकर ने कहा कि भारतीय टीम में ऑलराउंडरों की कमी उनकी एकमात्र कमजोरी है. उन्होंने कहा कि ऑलराउंडरों की कमी टीम इंडिया के लिए थोड़ी कमज़ोरी है. अगर आप ऑस्ट्रेलिया को देखें, तो मिशेल मार्श, ग्लेन मैक्सवेल और कैमरन ग्रीन जैसे उनके बल्लेबाज़ एक मैच में चार ओवर ही कर सकते हैं. मुझे लगता है कि शिवम दुबे को टीम में शामिल किया गया है.