menu-icon
India Daily
share--v1

T20 World Cup 2024: 3 वर्ल्ड कप जीते, T20 में सबसे ज्यादा रन, ऑस्ट्रेलिया के इस दिग्गज ने ले लिया संन्यास

T20 World Cup 2024, David Warner: बात साल 2009 की है. इस साल कंगारू टीम में एक नए लड़की की एंट्री हुई, नाम था डेविड वॉर्नर. टी20 में जब उन्हें साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहला मौका मिला. वॉर्नर ने डेब्यू मैच को यादगार बनाया. उस मैच में वार्नर के बल्ले से 43 गेंदों पर 89 रनों की धमाकेदार पारी निकली थी, जिसने इस बात का ऐलान किया था कि अब गेंदबाजों की धुनाई करने नया सितारा आया है. हुआ भी वैसा...आज डेविड वॉर्नर का टी20 में ऑस्ट्रेलिया के टॉप रन स्कोरर के तौर पर करियर खत्म हुआ.

auth-image
Bhoopendra Rai
David Warner
Courtesy: Twitter

T20 World Cup 2024, David Warner: टी20 विश्व कप 2024 में ऑस्ट्रेलिया टीम बाहर हो गई है. टीम का सफर खत्म होने के साथ ही स्टार ओपनर डेविड वॉर्नर ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया है. इस बात की पुष्टि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (CA) ने मंगलवार को एक सोशल पोस्ट के जरिए की, जिसमें बताया गया है कि वॉर्नर के रिटायरमेंट ले लिया है. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने इस पोस्ट में वॉर्नर के 15 साल के करियर के यादगार लम्हे को एक फोटो के जरिए बताने की कोशिश की है. वॉर्नर ने 37 साल की उम्र में अपने इंटरनेशनल करियर पर विराम लगाया है. करीब 15 साल तक ऑस्ट्रेलिया के लिए उन्होंने तीनों फॉर्मेट में कमाल किया और एक से बढ़कर एक पारियां खेलीं.

दरअसल, सोमवार को ऑस्ट्रेलियाई मिचेल मार्श ने कहा था कि वॉर्नर का संन्यास अफगानिस्तान-बांग्लादेश मैच के रिजल्ट पर निर्भर करेगा, यदि हमारी टीम सेमीफाइनल में पहुंच जाती है, तो वॉर्नर अगला मैच खेलेंगे, नहीं तो संन्यास ले लेंगे, हालांकि वॉर्नर ने अब तक कोई ऑफिशियल स्टेटमेंट नहीं दिया है, लेकिन माना जा रहा है कि उन्होंने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को इस बात की जानकारी दे दी है.



डेविड वॉर्नर की उपलब्धि क्या है?

ये दिग्गज खिलाड़ी 3 बार वर्ल्ड कप जीतने वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम का हिस्सा रहे हैं. वॉर्नर ने 2015 और 2023 का वनडे वर्ल्ड कप जीता था, इसके अलावा वे साल 2021 का टी20 विश्व कप जीतने वाली टीम का हिस्सा थे. खास बात ये है कि वो 2021 टी-20 वर्ल्ड कप में प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट भी रहे थे. यह उनकी सबसे बड़ी उपलब्धि भी है.

टेस्ट और वनडे से पहले ही ले चुके थे संन्यास

डेविड वॉर्नर ने पिछले साल दिसंबर में टेस्ट और वनडे से पहले ही संन्यास का ऐलान किया था. उन्होंने अपना आखिरी टेस्ट पाकिस्तान के खिलाफ 6 जनवरी 2024 को खेला था, जबकि आखिरी वनडे मैच 19 नवंबर को खेला था. अब 24 जून को भारत के खिलाफ उनके टी20 करियर का आखिरी मैच रहा.



डेविड वॉर्नर को करियर में इस चीज का रहेगा हमेशा मलाल

डेविड वॉर्नर का करियर बेहद शानदार रहा, लेकिन उन्हें एक चीज का मलाल हमेशा रहेगा. दरअसल, साल 2018 में साउथ अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीसरा टेस्ट खेला जा रहा था, जिसमें कंगारू टीम के खिलाड़ी कैमरन बेनक्रॉफ्ट ने स्टीव स्मिथ और वॉर्नर के साथ मिलकर जेंटलमैन गेम को शर्मसार किया था. उस मैच में गेंद से छेड़छाड़ करने के दोषी पाए जाने के बाद स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर को एक साल का बैन भी झेलना पड़ा था. इस मैच में बेनक्रॉफ्ट गेंद से छेड़छाड़ करते हुए रंगे हाथ पकड़े गए थे. उन्होंने बॉल को चमकाने के लिए सैंड पेपर का इस्तेमाल किया था, ये हरकत कैमरे में कैद हो गई थी. उस केस के बाद जब वॉर्नर मीडिया के सामने आए थे तो उनका आंसू निकल गए थे. यह केस वॉर्नर के करियर से जुड़ा हुआ है, जिसका मलाल उन्हें ता उम्र रहने वाला है.

टेस्ट करियर कैसा रहा?

टेस्ट में न्यूजीलैंड के खिलाफ साल 2011 में डेब्यू किया था. करियर में कुल 112 मैच खेले, जिनमें 44.6 की औसत से 8786 रन बनाए. 3 दोहरे शतक, 26 शतक और 37 फिफ्टी अपने नाम की हैं.

वनडे करियर कैसा रहा?

वनडे में साउथ अफ्रीका के खिलाफ साल 2009 में डेब्यू किया था. करियर में 161 मैच खेले, जिनमें 45.01 की औसत से 6932 रन बनाए. इस दौरान 22 शतक और 33 फिफ्टी जमाई.

टी20 करियर कैसा रहा?

साल 2009 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ टी20 डेब्यू किया था, करियर के 110 मैचों में 33.44 की औसत से 3277 रन किए. जिसमें 1 शतक और 28 फिफ्टी हैं.